स्मृति का जोरदार हमला, कहा- PAK में कितनी बेटियों के साथ रेप हुआ तब क्यों खामोश थी कांग्रेस

1/19/2020 12:03:06 PM

वाराणसीः केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को कांग्रेस पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश का विभाजन देशहित में नहीं, बल्कि परिवारवाद में किया था। उन्होंने यहां संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में नागरिकता संशोधन कानून के लिए आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस ने अपने परिवार के एक सदस्य को प्रधानमंत्री बनाने के लिए धर्म के नाम पर देश का बंटवारा कर दिया।

ईरानी ने कहा कि अंग्रेजों ने हिंदुस्तान को खत्म करने के लिए धर्म के नाम पर देश का विभाजन कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उस समय देश का विभाजन आखिर क्यों स्वीकार किया इस प्रश्न का जवाब कांग्रेस के पास आज भी नहीं है। उन्होंने कहा कि 1950 में नेहरू-लियाकत समझौता हुआ जिसमें अपने अपने देश में रहने वाले अल्पसंख्यकों को संरक्षण देने की बात तय हुई।

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान ने इस समझौते को बखूबी निभाया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि विभाजन के बाद भारत में 9 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे जो 2012 में 14 प्रतिशत से ज्यादा हो गए। उन्होंने कहा कि वहीं पाकिस्तान में उस समय 23 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे जो घट कर तीन प्रतिशत हो गए हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक बेटियों को घर से उठाया गया, जबरन धर्म परिवर्तन किया गया, इस पर कांग्रेस चुप्पी साधे रही। ईरानी ने कहा कि सोनिया गांधी पाकिस्तान में ईसाइयों के मरने पर नहीं रोईं पर बाटला हाउस में आतंकवादी के मरने पर रोने लगीं।

उन्होंने कहा कि बापू ने कहा था कि यदि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो तो हिंदुस्तान उनका कल्याण करे। ईरानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागरिकता कानून ला कर बापू के सपनों को साकार किया है। राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी 10 पीढ़ी बाद भी हिंदूवादी विचारक वी डी सावरकर के साहस का मुकाबला नहीं कर सकते। 



 


Tamanna Bhardwaj

Related News