जेल से छूटने के बाद सपा नेता का जुलूस मामलाः  प्रभारी निरीक्षक समेत सात पुलिसकर्मी सस्पेंड

punjabkesari.in Tuesday, Jun 08, 2021 - 09:12 AM (IST)

इटावा:  समाजवादी पार्टी युवजन सभा के औरैया अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव और 200 अन्य के कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर शनिवार को जुलूस निकालने से संबंधित मामले में सोमवार को प्रभारी निरीक्षक (सिविल लाइन) समेत सात पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया और पुलिस क्षेत्राधिकारी को हटाकर दूसरे क्षेत्र में तैनात कर दिया गया है।

इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस अधीक्षक (नगर) की जांच में दायित्व में लापरवाही बरतने का दोषी पाए जाने पर प्रभारी निरीक्षक (सिविल लाइन) ओमप्रकाश पाण्डेय, एलआईयू (अभिसूचना) निरीक्षक पुनीत कुमार शर्मा, पुलिस चौकी महेवा प्रभारी विष्णु कांत तिवारी, मुख्य आरक्षी (यातायात) योगेश कुमार तथा दो यातायात आरक्षियों- अजय कुमार और बृजपाल सिंह को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही पुलिस क्षेत्राधिकारी (शहर) राजीव प्रताप सिंह को हटाकर दूसरे क्षेत्र में तैनात किया गया है। इससे पहले इसी मामले में जेल चौकी प्रभारी भानु प्रताप सिंह को रविवार को ही निलंबित कर दिया गया था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मुख्य आरोपी समेत शेष लोगों की पकड़ने के लिए पुलिस प्रयासरत है। एसएसपी ने बताया कि धर्मेंद्र यादव की गिरफ्तारी के लिए इटावा पुलिस ने उसके ऊपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। सिंह ने रविवार को बताया था कि शनिवार को औरैया जिले के समाजवादी पार्टी युवजन सभा के अध्यक्ष इटावा जेल से रिहा होने पर कोविड नियमों का उल्लंघन कर बड़ी संख्या में गाडिय़ों के काफिले के साथ जुलूस निकालते हुए राजमार्ग से औरैया गए। उन्होंने बताया कि जुलूस का वीडियो संज्ञान में आने पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने धर्मेंद्र यादव सहित 200 लोगों के खिलाफ कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन का मामला दर्ज किया था। इस मामले में गिरफ्तारी के लिए औरैया और जालौन पुलिस की मदद ली गई तथा पुलिस की आठ टीम गठित कर रविवार को 24 कार जब्त की गईं तथा 34 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static