UP में पहली बार बनी ''Digital library'' में देश का सबसे अधिक ई-कंटेट है: दिनेश शर्मा

3/5/2021 7:44:13 PM

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने शुक्रवार को प्रयागराज में कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में पहली बार बनी डिजिटल लाइब्रेरी में देश का सबसे अधिक ई-कंटेट है। इस लाइब्रेरी में करीब 79,000 ई-कंटेट अपलोड किए गए हैं। प्रोफेसर राजेन्द्र सिंह (रज्जू भैया) विश्वविद्यालय के तृतीय दीक्षांत समारोह के विशिष्ट अतिथि शर्मा ने कहा कि इस डिजिटल लाइब्रेरी से बच्चों को निशुल्क शिक्षा उपलब्ध होगी और छात्रों को शीर्ष स्तर के प्रोफेसरों के व्याख्यान सुनने और पढ़ने का मौका मिलेगा।

उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत न्यूनतम साझा पाठ्यक्रम तैयार करने की कार्ययोजना उच्च शिक्षा विभाग और विश्वविद्यालयों के समन्वय में निर्धारित की है। उप मुख्यमंत्री ने कहा, “हमारी कोशिश है कि 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम एकसमान हो और 30 प्रतिशत पाठ्यक्रम विश्वविद्यालय स्तर पर अपनी सुविधा के अनुसार तैयार किया जाए।”

शर्मा ने बताया कि प्रदेश के सभी 16 राज्य विश्वविद्यालयों में दीनदयाल उपाध्याय शोध पीठ स्थापित करने का निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जल्द ही नया शिक्षा सेवा चयन आयोग लेकर आ रही है और इसका गठन होने के बाद माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन आयोग और उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग का इसमें विलय हो जाएगा। केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री और दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि नई शिक्षा नीति द्वारा मातृ भाषा में अध्ययन का अवसर प्राप्त हुआ है जिससे भारतीयता का बोध होने के साथ ही गर्व की अनुभूति होती है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में जब समाज में भौतिकता का बोलबाला है और मानव मूल्यों का ह्रास हो रहा है तो ऐसी परिस्थिति में सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और नैतिक शिक्षा बेहद आवश्यक है। दीक्षांत समारोह के दौरान प्रदेश की राज्यपाल और इस विश्वविद्यालय की कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने स्नातक और स्नातकोत्तर में 40 छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक से सम्मानित किया। कार्यक्रम में प्रयागराज की सांसद रीता बहुगुणा जोशी, फूलपुर सांसद केशरी देवी पटेल, नगर की महापौर अभिलाषा गुप्ता, प्रदेश के पूर्व मंत्री नरेंद्र कुमार सिंह गौड़ और कई अन्य विशिष्ट जन मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में कुलपति कामेश्वर नाथ सिंह ने सभी का आभार जताया।

 


Content Writer

Umakant yadav

Related News