बीहड़ और बंजर भूमि को उर्वर बनाने के लिए UP सरकार ने 5 वर्ष के लिए और बढ़ाई योजना

punjabkesari.in Tuesday, Jun 14, 2022 - 07:15 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने बीहड़, बंजर और जलभराव वाली भूमि में सुधार एवं उसे उर्वर बनाने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना को पांच वर्ष और आगे बढ़ाने का फैसला किया है।

मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में यहां संपन्न हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में यह फैसला किया गया। यहां जारी एक सरकारी बयान के अनुसार बीहड़, बंजर और जल भराव क्षेत्रों में सुधार एवं उसे उर्वर बनाने हेतु पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना का (2022-23 से 2026-27 तक) विस्तार करने का निर्णय लिया गया है। इस योजना में पांच वर्षों में कुल 602.68 करोड़ रुपये (501.59 करोड़ रुपये राज्य सेक्टर से 51.25 करोड़ रुपये मनरेगा से एवं 49.84 करोड़ रुपये कृषक अंश) के व्यय सम्भावित हैं। योजनान्तर्गत 2,19,250 लाख हेक्टेयर समस्याग्रस्त बीहड़/बंजर भूमि सुधार तथा जलभराव क्षेत्र को उर्वर बनाया जाएगा। योजना गौतमबुद्ध नगर जिले को छोड़कर राज्य के शेष सभी 74 जिलों में प्रस्तावित है।

मंत्रिपरिषद ने योजना में किसी प्रकार के परिवर्तन और संशोधन के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत किया है। योजना के फलस्वरूप समस्याग्रस्त भूमि में उपचार के उपरान्त कृषि उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि होगी। इससे कृषकों की आय एवं भूजल स्तर में भी वृद्धि होगी। योजना के संचालन से पांच वर्षों में दो करोड़ मानव दिवस का सृजन सम्भावित है। योजनान्तर्गत चयनित परियोजना क्षेत्र में शत-प्रतिशत अनुदान पर बीहड़/बंजर भूमि सुधार तथा बीहड़/बंजर क्षेत्र सुधार का कार्य राज्य सेक्टर से एवं जलभराव क्षेत्र के उपचार का कार्य मनरेगा से प्रस्तावित है।

गौरतलब है कि इसके पहले वर्ष 2017-18 से 2021-22 तक पंडित दीन दयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना पांच वर्ष के लिये संचालित की गयी, जिसके अन्तर्गत 157190 हेक्टेयर क्षेत्रफल भूमि को कृषि योग्य एवं अधिक उपजाऊ बनाया गया है। इस योजना में 332.00 करोड़ रुपये का व्यय हुआ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static