ISSF World Championship: मेरठ की तिकड़ी ने इटली की टीम को मात देकर हासिल किया स्वर्ण पदक, देश का बढ़ाया गौरव

punjabkesari.in Sunday, Sep 25, 2022 - 12:27 PM (IST)

मेरठः क्रोएशिया में चल रहे आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप शॉटगन में यूपी के मेरठ जिले में रहने वाले तीन निशानेबाजों ने सोने का पदक जीत कर देश का मान बढ़ाया है। बता दें कि फाइनल प्रतियोगिता में भारतीय जूनियर टीम ने इटली की टीम को हराकर यह पदक अपने देश नाम किया है। ट्रैप टीम पुरुष जूनियर वर्ग में हिस्सा लेकर मेरठ के शार्दुल विहान, शपथ भारद्वाज और आर्य वंश त्यागी ने पूरी दुनिया से आए हुए 45 निशानेबाजों को पछाड़ कर यह स्वर्ण पदक जीता है।

PunjabKesari

जानकारी के मुताबिक क्वालिफिकेशन राउंड में शामिल 16 देशों की टीमों में 48 निशानेबाज शामिल थे। जिसमें इटली की टीम का प्रदर्शन सबसे से बढ़िया रहा। जिसके चलते वह सेमी फाइनल मुकाबले में पहुंच गई। वहीं भारतीय टीम और अमेरिका की टीम 205 अंकों के साथ बराबरी पर रही, जिसको लेकर दोनों टीमों के बीच टाई शूट हुआ। जिसमें अमेरिका की टीम का निशाना चूकने से वह बाहर हो गई और भारतीय टीम फाइनल में पहुंच गई।

PunjabKesari

इसके बाद फाइनल मैच का आगाज हुआ जो भारतीय जूनियर टीम और इटली के बीच हुआ। जिसमें पांच राउंड हुए। इसके पहले दो राउंड में भारत को हार का मुंह देखना पड़ा और आखिर के तीनों राउंडस को भारत की टीम ने जीतकर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। इस मैच में भारतीय टीम को छह प्वाइंट मिले और इटली की टीम ने अपने नाम चार प्वाइंट्स किए।

PunjabKesari

बता दें कि शूटिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप चार साल में सिर्फ एक बार आयोजित होती है। इसलिए भी इस प्रतियोगिता का महत्व बढ़ जाता है। इसके लिए खिलाड़ियों को चार साल तक इंतजार करना पड़ता है। वहीं, जूनियर वर्ग में मेरठ से शार्दुल विहान, आर्य वंश त्यागी और शपथ भारद्वाज लगातार बेहतर प्रदर्शन करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। शार्दुल और आर्य वंश इससे पहले भी कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर पदक भी जीत चुके हैं और जूनियर वर्ल्ड कप जर्मनी में भी इन दोनों ने रजत पदक जीता था। इसके साथ ही शार्दुल ने राष्ट्रीय चैंपियनशिप के सीनियर व जूनियर वर्ग डबल ट्रैप में भी पदक जीते थे। साथ ही आर्य वंश का यह दूसरा अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Harman Kaur

Related News

Recommended News

static