स्मृति ईरानी ने अपने आशियाने के लिए अमेठी में कराई जमीन की रजिस्ट्री, जल्द शुरू होगा निर्माण

2/22/2021 2:39:43 PM

अमेठीः भारतीय जनता पार्टी से सांसद व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अपने एकदिवसीय दौरे पर अमेठी जनपद मुख्यालय गौरीगंज स्थित कलेक्ट्रेट पहुंची। जहां गौरीगंज तहसील के उप निबन्धक कार्यालय में अपने आवास हेतु जमीन के लिए फूलमती से मेंदन मवई गांव में 10:50 विश्वा जमीन की रजिस्ट्री करवाईं। जल्द ही वह अपने आशियाने का निर्माण कार्य शुरू कराएंगी। केंद्रीय मंत्री के साथ-साथ डीएम अरुण कुमार, सीडीओ अंकुर लाठर सहित जिले के पुलिस अधीक्षक दिनेश रजिस्ट्री ऑफिस में मौजूद रहें।

इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अमेठी में सपने को साकार करने के लिए दोनों सरकारों ने भूमिका निभाई। 30 साल बाद मेडिकल कॉलेज बनवाने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ। अमेठी में बाईपास बने इसके लिए जनता ने मुझ से आग्रह किया था कि इस प्रोजेक्ट को मैं पास करवाऊं। सौभाग्य है कि बाईपास का काम ही नरेंद्र मोदी जी और योगी जी की सरकार में अमेठी को प्राप्त हुआ। अमेठी में सैनिक स्कूल बने इस संदर्भ में भी केंद्र और प्रदेश की सरकार के समन्वय से अमेठी मे सौगात मिली।

अमेठी के इतिहास में आज तक अमेठी का सांसद यहां कभी घर बना कर नहीं रहा है। आज तक मैं अमेठी में किराए के मकान पर रह रही थी। आज मेरा यह सौभाग्य है कि यहां पर आज मैं घर बनाने की प्रक्रिया शुरु कर पा रही हूं। अब तक मेरे संसदीय कार्यकाल का 2 वर्ष भी पूरा नहीं हुआ। इन डेढ़ वर्षों के अंतराल में मैं अपने दिए गए वचनों को पूरा कर पा रही हूं। यह प्रभु की कृपा और आशीर्वाद है। स्मृति ने कहा कि जमीन का आज रजिस्ट्रेशन कराया है और आशावादी हूं कि जल्द ही निर्माण कार्य शुरू होगा। भूमि पूजन के दिन गांव के सभी नागरिक वहां पर आएं और आशीर्वाद दें। ग्रामीण अंचल के हमारे जितने भी पदाधिकारी हैं और कार्यकर्ता हैं सभी से मैंने आग्रह किया है कि वह भूमि पूजन की तारीख तय कर हमें अवगत कराएं। जिसमें गांव के सभी लोग मौजूद रहेंगे जब लोगों ने मुझे दीदी कहा है तो  दीदी के घर का शिलान्यास होगा तो सभी लोग मौजूद रहकर आशीर्वाद देंगे। अमेठी का जितना प्रेम और आशीर्वाद मुझे मिला है जिसमें इन लोगों की मंशा थी कि सांसद यहां पर उपलब्ध रहे। 

इसी के क्रम में करोना काल में हमने न्याय पंचायत वार ई चौपाल के माध्यम से लोगों की समस्याएं सुनी और निराकरण किया और यह प्रयास किया कि लोगों को जिला मुख्यालय तक न जाना पड़े। कोरोना से पहले भी न्याय पंचायत वार दीदी आपके द्वार कार्यक्रम के तहत मैं स्वयं जिला प्रशासन के प्रतिनिधियों के साथ गांव गांव जाती थी। जनता के मन में जो एक प्रश्न था कि क्या अमेठी में ऐसा कभी कोई सांसद होगा जो गांव कब तक अपने संसदीय कार्यकाल में पहुंचेगा मैं उस अभिलाषा को भी पूरा कर पाई हूं।  

बता दें कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अमेठी से हराने के बाद स्‍मृति ईरानी ने क्षेत्र के लोगों से वादा किया था कि वह अमेठी में अपना घर बनाकर रहेंगी। ईरानी का यह वादा आज जमीन की रजिस्ट्री होने के बाद पूरा हो गया है।

 


Content Writer

Umakant yadav

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static