UP Election: वर्चुअल रैली में PM मोदी बोले- योगी सरकार में 33 लाख से अधिक गरीब हुए लखपति

punjabkesari.in Monday, Jan 31, 2022 - 07:19 PM (IST)

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की पहली डिजिटल रैली में किसानों, नौजवानों, तीन तलाक पीड़ित महिलाओं और गरीबों, वंचितों तथा हर वर्ग के लिए भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजन (केंद्र और राज्य) सरकार द्वारा किये गये कार्यों का आंकड़ा पेश करते हुए कहा कि पिछली सरकार ने प्रदेश में महज कुछ हजार मकान बनवाए थे, वहीं योगी सरकार ने पांच साल में 33 लाख से ज्यादा मकान बना कर गरीबों को दिए हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पांच जिलों बागपत, शामली, गौतमबुद्ध नगर, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर से जुड़े मतदाताओं को डिजिटल माध्यम से संबोधित करते हुए उपरोक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा, ‘‘33 लाख गरीब पांच साल में लखपति बने हैं और इसमें से ज्यादा घर महिलाओं माताओं, बहनों के नाम हैं। हमारी सरकार ने यूपी की लाखों महिलाओं को उनके मकान का मालिक बनाया है।'' उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व में यूपी सरकार जो कर रही है उसका सबसे अधिक लाभ दलितों, पिछड़ों और वंचितों को हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव सात चरणों में होना है। प्रदेश के पांच जिलों बागपत, शामली, गौतमबुद्ध नगर, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर की 21 विधानसभा सीटों पर पहले और दूसरे चरण में क्रमश 10 फरवरी और 14 फरवरी को मतदान होना है। मोदी ने सभी वर्ग के मतदाताओं से अपील करते हुए कहा, ''एक तरफ भाजपा है जिसके पास विकास का विजन है, साफ-सुथरा, ईमानदार, असरदासर नेतृत्व है, वहीं दूसरी तरफ अहंकार से भरे, समाज को तोड़ने वाले किसी भी कीमत पर सत्ता पाने का सपना देखने वाले नकली समाजवादी हैं।'' उन्होंने कहा कि विजन के नाम पर इनके पास सिर्फ गुस्‍सा और आक्रोश है इसलिए आज यूपी कह रहा है कि एक बार फ‍िर गरीबों की सरकार, भाजपा सरकार, डबल इंजन सरकार।

मोदी ने कहा, ''इस चुनाव में बड़ी संख्या में मतदान कीजिए, अपने संतानों के भविष्य के लिए मतदान करिए, किसान, गरीब, माताओं, बहनों की सुरक्षा, उज्‍जवल भविष्‍य के लिए मतदान करिए, आपका एक वोट उप्र को सुरक्षित करेगा और आपके एक वोट की ताकत से उप्र का भविष्य उज्जवल होगा।'' प्रधानमंत्री ने उदाहरण दिया कि पिछली सरकार ने अपने पांच साल में गौतमबुद्धनगर में 73 मकान बनाए थे लेकिन योगी नीत सरकार ने इन पांच वर्षों में करीब 23 हजार मकान बनाकर शहरी गरीबों को दिए हैं, सोचिए कहां पांच साल में 73 और कहां 23 हजार मकान।

इसी तरह उन्होंने सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर और बागपत का भी उदाहरण दिया। महिला सशक्तिकरण की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन तलाक के खिलाफ जो कानून हमारी सरकार ने बनाए उसका लाभ हमारी लाखों मुस्लिम बहन-बेटियों को हुआ है। उन्होंने कहा कि बेटे-बेटियों को एक समान मानने वाली हमारी सरकार ने अब बेटियों की शादी की न्यूनतम उम्र 21 साल करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कोरोना काल में गरीबों और सभी वर्गों के लिए किये गये सरकार के प्रयासों की चर्चा करते हुए कहा कि जब दिल में सेवा की भावना हो तो भ्रष्‍टाचार पास फटक भी नहीं सकता है। मोदी ने कहा कि कोरोना दुनिया में 100 साल में सबसे बड़ा संकट है, उस समय गरीबों के लिए सोचने वाली सरकार कैसे काम करती है, यह देश अनुभव कर रहा है।

प्रधानमंत्री अन्‍न योजना के तहत एक-एक गरीब परिवार का ध्यान रखा है, गरीबों को मुफ्त राशन उपलब्ध करा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह वही उप्र है जहां पांच साल पहले राशन की दुकानों से गरीबों का राशन चोरी हो जाता था, आज एक-एक दाना गरीब के घर तक पहुंच रहा है। यही फर्क है, यही बदलाव है जो पांच साल में आया है। किसानों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ''हमारा लक्ष्य था कि किसान को मिलने वाली सरकारी मदद में लूट-बेईमानी बंद हो, यूपी के छोटे किसानों के बैंक खाते में सीधी मदद की और आज पीएम किसान सम्मान निधि से यूपी के किसानों को 43 हजार करोड़ रुपये सीधे उनके जेब में मिले हैं। इसका बहुत बड़ा लाभ छोटे किसानों को मिला है।''

 प्रधानमंत्री ने कहा कि पशुओं में खुरपका, मुंहपका के नियंत्रण के लिए जो राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मिशन चलाया गया है उससे भी किसानों को बहुत लाभ हुआ है। हमारे देश के टीकाकरण की चर्चा हो रही है लेकिन बहुत कम लोगों को मालूम है कि जिस प्रकार मनुष्य का टीकाकरण अभियान चला है वैसा ही हिंदुस्तान के मवेशियों का टीकाकरण का अभियान चलेगा और इससे पशु पालकों को बहुत बड़ी चिंता से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि यूपी में बनाये जा रहे बायोगैस प्‍लांट बेसहारा पशुओं से जुड़ी दिक्कत को कम करेंगे और किसानों को अतिरिक्त आय का साधन भी मुहैया कराएंगे। दूध न देने वाले पशुओं के गोबर से भी किसानों को पैसा मिलेगा। गन्ना किसानों के बकाये भुगतान की चर्चा करते हुए मोदी ने कहा, ''हमने गन्ना किसानों की दिक्कतों को ध्‍यान में रखते हुए उनके बकाया भुगतान का भी लक्ष्य रखा है और इस लक्ष्य को तेजी से पूरा किया है। पश्चिमी उप्र के किसान भूले नहीं हैं कि 2017 से पहले कैसे मेहनत का पैसा सालों साल किस्तों में मिलता था, लेकिन योगी नीत सरकार ने वो बकाया भी चुकाया और नये सीजन का भुगतान भी तेजी से किया।''

उन्होंने दावा किया, आज पिछले पेराई सत्र का 98 प्रतिशत से अधिक भुगतान हो चुका और मौजूदा सत्र का लगभग 70 प्रतिशत भुगतान हो चुका है। किसानों का जितना भुगतान योगी नीत सरकार ने किया उतना पिछली दो सरकारों ने अपने दस साल के कार्यकाल में नहीं किया।'' उल्लेखनीय है कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। खासकर जाट किसानों ने इसमें अपनी भागीदारी दिखाई। भारतीय किसान यूनियन के नेता जाट बिरादरी के राकेश टिकैत पश्चिमी उप्र के मुजफ्फरनगर जिले के निवासी हैं जबकि समाजवादी पार्टी के साथ विधानसभा चुनाव में गठबंधन करने वाले राष्ट्रीय लोकदल के प्रमुख जाट बिरादरी के जयंत चौधरी बागपत जिले के मूल निवासी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static