…जब निषाद समाज की महिलाओं ने रो-रोकर प्रियंका गांधी को सुनाई पुलिसिया उत्पीड़न

punjabkesari.in Sunday, Feb 21, 2021 - 05:35 PM (IST)

प्रयागराज: कांग्रेस महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा रविवार को प्रयागराज के यमुना तट पर स्थित घूरपुर के बसवार गांव में निषाद समुदाय के लोगों के बीच पहुंची जहां उन्हें पुलिस कार्रवाई के बारे में जानकारी दी गयी। प्रशासन के द्वारा की गई ज्यादती के बारे में लोगों से पूछा तो महिलाएं फफक पड़ीं। निषाद समाज की महिलाओं ने रो-रोकर अपनी दास्तां सुनाई। उन्होंने कहा कि पुलिस ने घर में घुसकर औरतों और बच्चों को भी बेरहमी से पीटा। घर में तोड़फोड़ की और आग लगा दी।

PunjabKesari
इस दौरान मछुआरों ने पुलिस के द्वारा तोड़े गए उनके नावों को भी प्रियंका को दिखाया। पुलिसिया उत्पीड़न के शिकार हुए घूरपुर के बसवार गांव के निषादों का दर्द प्रियंका गांधी ने सुना। जिसके बाद प्रियंका ने निषादों को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नाम लिए बिना निषाद समुदाय की एक जनसभा में कहा कि मौजूदा सरकार नदी और जंगल की बदौलत रोजी रोटी कमाने वालों की नहीं सुनती बल्कि पर्यावरण की अमूल्य संपदा को नुकसान पहुंचाने वाले खनन माफियाओं के लिए चलायी जा रही है।आज योजनाएं खनन माफियाओं के लिए बनाई जा रही हैं। अलग-अलग माफियाओं के लिए कानून बनाए जा रहे हैं। इस दौरान प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेस विधायक अराधना मोना आदि मौजूद रहीं।

दरअसल, 4 फरवरी को अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने बसवार गांव में नाविकों की कई नावें तोड़ दी थीं। आरोप है कि इस दौरान महिलाओं पर लाठीचार्ज भी किया गया। इसी मामले में पुलिस ने नाविकों द्वारा विरोध करने पर दर्जनों लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static