सपा की सरकार बनते ही लखीमपुर कांड के दोषियों और उनके संरक्षकों को भेजेंगे जेल: अखिलेश

punjabkesari.in Wednesday, Feb 16, 2022 - 05:44 PM (IST)

औरैया: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को जमानत मिलने को लेकर राज्य सरकार की निंदा करते हुए कहा कि वह सत्ता में आने पर यह सुनिश्चित करेंगे कि अपराधी और उसके संरक्षक जेल जाएं। यादव ने कहा कि जिन्हें कानून व्यवस्था हाथ में लेनी है, कानून को नहीं मानना है वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें, जिन्हें गरीब पर अन्याय करना है वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें। औरैया में तीसरे चरण में होने वाले मतदान से पूर्व सपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित एक जनसभा में अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘मंत्री पुत्र (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्र) जिसने गाड़ी से किसानों को कुचला था उसको जमानत मिल गयी। जो पैरवी सरकार को करनी चाहिए थी वह पैरवी नहीं हुई। एक अदालत से हो सकता है जमानत मिल गयी हों लेकिन जनता की अदालत से जमानत मिलनी चाहिए थी या नहीं मिलनी चाहिए थी? जिसे जमानत दिलवा दी है, हम समाजवादी लोग भरोसा दिलाते हैं कि सरकार बनने वाली है। ऐसी पैरवी होगी जिसने किसानों की जान ली वह तो जेल जायेंगे ही साथ ही उनको पालने-पोसने वालों को जेल भेजने का काम आने वाले समय में होगा।''

उन्होंने कहा कि जिन्होंने किसी अपराधी को जमानत पर निकाला है उसकी जमानत जब्त करायें। उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे बाबा जी (योगी आदित्यनाथ) सबसे ज्यादा आरोप लगा रहे हैं। जबकि लखीमपुर जैसी घटना दुनिया में नहीं हुई होगी। किसान शांतिपूर्ण ढंग से अपना आंदोलन कर रहे हों और जीप आकर उन्हें कुचल जाये। किसानों की जान ही नहीं गयी बल्कि उनके साथ अन्याय भी हुआ है। हमारे मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था की इसलिए बात करते हैं कि जब वह सुबह उठते हैं और शीशे में उन्हें जो दिखाई देता है उसी के बारे में सुबह से लेकर शाम तक चर्चा करते हैं। देश में कोई मुख्यमंत्री हैं जिसके ऊपर इतने मुकदमे हों? यह पहले मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने मुकदमे वापस लिए हैं।'' गौरतलब है कि पिछले वर्ष लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया थानाक्षेत्र में किसान आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गयी थी। किसानों की मौत के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा और उसके सहयोगियों को आरोपी बनाया गया और वे पिछले साल अक्टूबर से ही जेल में बंद था। आशीष मिश्रा मंगलवार को जमानत पर लखीमपुर खीरी जेल से रिहा हो गया। सरकारी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन, गरीबों को मुफ्त राशन, तेल और घी देने के वादे के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष यादव ने युवा बेरोजगारों को आकर्षित करने के लिए एक नया दांव खेलते हुए बुधवार को कहा कि वे सरकार बनने पर नौकरी में उम्र की छूट देने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो सभी खाली पदों को भरने के साथ-साथ पुलिस की नौकरी निकालने का काम भी करेंगे। कोरोना वायरस महामारी की वजह से बहुत सारे लोग नौकरी के लिए उम्र की सीमा पार कर गये हैं। अगर हमें उम्र की छूट भी देनी पड़ी तो वह भी देने का काम समाजवादी लोग करेंगे।'' भाजपा द्वारा पूर्ववर्ती सपा सरकार के कार्यकाल के दौरान खराब कानून व्यवस्था का बार बार जिक्र करने का जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘जिन्हें कानून-व्यवस्था हाथ में लेनी है, कानून को नहीं मानना है, वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें। जिन्हें गरीब पर अन्याय करना है वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें।'' उन्होंने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की ओर इशारा करते हुए कहा कि पहले चरण से ही सपा आगे बढ़ रही है और जो लोग कह रहे थे गर्मी निकाल देंगे उनके समर्थक पहले ही चरण में ठंडे पड गये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘दूसरे चरण में आते आते जिस तरह का वोट पड़ा है उसमें उनके कार्यकर्ता सुन्न पड गये हैं।'' यादव ने कहा कि अब जब औरैया के लोग वोट डालेंगे तो भाजपा का खाता यहां नहीं खुलेगा वह (भाजपा) यहां शून्य हो जायेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने एक बार फिर जनता से बिजली, राशन मुफ्त देने, सरकारी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन बहाल करने और समाजवादी पेंशन दिए जाने जैसे वादे किये। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static