गजबः पंचायत चुनाव के लिए ब्रह्मचर्य तोड़ किया चट मंगनी पट ब्याह, वोटर्स ने सुनाया ये फैसला

5/3/2021 2:41:05 PM

बलियाः कोरोना संकट के बीच संपन्न हुए उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव का परिणाम भी सामने आने लगा है। किस प्रत्याशी की किस्मत कितनी चमकी ये तो पूरा रिजल्ट आने के बाद ही सामने आ पाएगा। मगर चुनाव में जगह बनाने को या जीत दर्ज कराने को लेकर लोग तरह-तरह के तिकड़म लगाते हैं। शराब, मिठाई, पनीर, साड़ी बांटते कई प्रत्याशी धरे गए। इसी क्रम में बलिया ग्राम पंचायत शिवपुर कर्ण छपरा के जितेंद्र सिंह उर्फ हाथी सिंह ने पूरी जिंदगी शादी न करने की शपथ ली मगर सीट आरक्षित होने पर बिना मुहूर्त ही शादी कर ली। नई नवेली दुल्हन को चुनावी मैदान में उतार दिया। वहीं गांव वालों ने भी फैसला सुनाया तो निराशा ही हाथ लगी।

बिना मुहूर्त ही चट मंगनी पट ब्याह
बता कि विकासखंड मुरलीछपरा के ग्राम पंचायत शिवपुर कर्ण छपरा के जितेंद्र सिंह उर्फ हाथी सिंह ने 2015 में प्रधानी चुनाव लड़ा और केवल 57 वोटों से हार कर उपविजेता रहे।वहीं इस बार सीट महिलाओं के लिए आरक्षित घोषित कर दी गई है। इस कारण मैदान में उतरने की मंशा धराशाई हो गई। इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और समर्थकों ने के सुझाव पर शादी कर ली। उन्होंने इसके बाद क्या सिंह ने इस सुझाव पर चलकर बिना मुहूर्त ही चट मंगनी पट ब्याह कर लिया। पहले बिहार की अदालत में कोर्ट मैरिज की। इसके बाद 26 मार्च को गांव के धर्मनाथजी मंदिर में भी शादी कर ली।

इसके बाद पत्नी निधि को चुनावी मैदान में उतार दिया। खुद प्रचार में जुटे और पत्नी को भी प्रचार में लगाया। मेंहदी लगे हाथों से ही निधि सिंह प्रचार प्रसार में लगी रहीं। लोगों ने खूब आशीर्वाद दिया। साथ देने का वादा भी किया। लेकिन रिजल्ट आया तो निराशा हाथ लगी। दरअसल हाथी सिंह की पत्नी भी चुनाव हार गईं। यहां से हरि सिंह की पत्नी सोनिका देवी 564 वोट पाकर जीत गईं। हाथी सिंह की पत्नी निधि को 525 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Recommended News

static