ATS द्वारा जीशान कमर की गिरफ्तारी ईआईडी बरामद, पड़ोसी ने आरोपी को बताया बेगुनाह

punjabkesari.in Wednesday, Sep 15, 2021 - 01:05 PM (IST)

प्रयागराज: दिल्ली पुलिस और यूपी एटीएस के ज्वाइंट ऑपरेशन में छह व्यक्तियों की आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तारी के बाद हड़कंप मचा हुआ है।  वहीं संगम नगरी प्रयागराज में बड़े आतंकी कनेक्शन का खुलासा हुआ है। एटीएस ने यहां से एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है। जीशान कमर नाम का यह संदिग्ध पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट है और लंबे अरसे तक दुबई में रहा है।  एटीएस की टीम ने जीशान कमर को प्रयागराज के करेली इलाके के सी ब्लॉक में स्थित उसके मकान से गिरफ्तार किया है। एटीएस ने जीशान की निशानदेही पर नैनी इलाके से एक आईडी भी बरामद की है। बीडीएस टीम के जरिए इस आईडी को डिस्ट्रॉय भी करा दिया गया है।

बता दें कि जीशान कमर प्रयागराज शहर के करेली इलाके के सी ब्लॉक में आलीशान मकान में रहता था। उसकी दो बहनें हैं। तकरीबन डेढ़ साल पहले उसकी शादी हुई है। लॉकडाउन में दुबई से वापस आने के बाद से वह भारत में रह रहा था। कहने के लिए वह भारत में खजूर के इंपोर्ट और एक्सपोर्ट का काम करता था, लेकिन एटीएस ने जो खुलासा किया है, वह बेहद चौंकाने वाला हैं।

पड़ोसियों के मुताबिक तकरीबन 30 साल का जीशान बेहद मिलनसार था। उन्हें कभी इस बात का अहसास तक नहीं हुआ कि जीशान इस तरह की गतिविधियों में शामिल हो सकता है। जीशान के बयान के आधार पर एटीएस ने शहर में कई अन्य जगहों पर भी छापेमारी की है। कई लोगों से पूछताछ की है। तारिक मदनी नाम के एक अन्य युवक को भी उठाए जाने की चर्चा है। जीशान कमर के गिरफ्तारी के बाद से उसके मोहल्ले में हड़कंप मचा हुआ है। किसी को उसकी हरकत पर यकीन नहीं हो रहा है। पड़ोसियों का कहना है कि वह कभी सोच भी नहीं सकते थे कि सीधा साधा सा दिखने वाला यह शख्स आतंकियों से रिश्ते रखेगा और उनका मददगार बनेगा। जीशान की गिरफ्तारी के बाद से परिवार वालों ने खुद को घर में कैद कर लिया है और वह कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। फिलहाल उसकी निशान देही पर सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश कर दिया गया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static