गोरखपुर में चिड़ियाघर का जल्द होगा लोकार्पण, मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धन का भी होगा माध्यम: योगी

3/5/2021 8:24:58 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने कहा पूर्वी उत्तर प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में असीम संभावनाओं के द्दष्टिगत रखते हुए इसी माह गोरखपुर के चिडिय़ाघर का लोकार्पण हो जाएगा। शेर आ चुके हैं। यह प्रदेश का बेहतरीन चिडिय़ाघर होगा, मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धन का माध्यम भी बनेगा। सीएम ने कहा कि याद करें 20 साल पहले गोरखपुर की क्या स्थिति थी। इसकी पहचान अपराध के केंद्र के रूप में थी। यहां के रामगढ़ ताल में शहर की गंदगी गिरती थी। आज रामगढ़ ताल खूबसूरती के लिए जाना जाता है।

 सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जगह नहीं होती थी और आज महंत दिग्विजय नाथ पार्क और चंपा देवी पार्क जैसे दो बड़े सार्वजनिक स्थान हैं। इसी माह यहां बड़ी क्षमता का एक अत्याधुनिक प्रेक्षागृह समर्पित करने जा रहे हैं। जिस राजघाट पर गंदगी देख लोगों का मन खिन्न होता था आज वहां हर प्रकार की सुविधा के साथ शानदार प्लेटफार्म और स्नान की बेहतरीन व्यवस्था है। लाखों की संख्या में लोग बाबा गोरखनाथ की धरती पर आस्था निवेदित करने आते हैं। उन्होंने कहा कि गोरखपुर बौद्धिस्ट पर्यटन व सनातन संस्कृति के अनुनायियों का प्रमुख केंद्र है। यहां से होकर ही पर्यटक कुशीनगर, कपिलवस्तु, श्रावस्ती, अयोध्या, मगहर और काशी आते जाते हैं। ऐसे में यहां रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं। स्थानीय युवक इन पर्यटकों के लिए गाइड का कार्य कर सकते हैं।  

 योगी ने कहा कि 8 मार्च महिला दिवस पर हर जिले में विशिष्ट कार्यक्रम होंगे। इनमें संचालन से लेकर कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की भूमिका महिला के ही जिम्मे होगी। महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा को लेकर मिशन शक्ति, एन्टी रोमियो स्क्वाड, महिला हेल्प डेस्क आदि का जिक्र करने के साथ ही सीएम ने बताया कि अब कोटे की रिक्त दुकानों का आवंटन महिला स्वयंसेवी समूहों को किया जाएगा। इसके साथ ही पुष्टाहार वितरण का कार्य भी महिला स्वयंसेवी समूहों की दिया जा रहा है। इससे पारदर्शी वितरण में मदद मिलेगी और शिशु-मातृ मृत्यु दर को और कम किया जा सकेगा।  मुख्यमंत्री ने लोगों का आह्वान किया वे गांव की बेटी, सबकी बेटी और गांव की बहन सबकी बहन के भाव को जगाएं ताकि पाश्चात्य संस्कृति से आई विकृत सोच को दूर किया जा सके। समाज जागरूक हो जाए तो आधी आबादी के मन मे सुरक्षा का बोध और बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर महानगर के हरिओम नगर और टीपीनगर में पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन का भी लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इससे पटरी व्यापारियों के व्यवस्थित पुनर्वास के साथ ही सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या दूर होगी। सीएम योगी ने कहा कि पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन के लिए नगर पंचायत स्तर पर भी कार्ययोजना बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि पटरी व्यापारियों को पीएम स्वनिधि योजना से भी जोड़कर सस्ते दर पर लोन दिलाया गया है। उन्हें डिजिटल मोड़ में लाकर अतिरिक्त लाभ भी मिलेगा।  सीएम ने अधिकारियों को हर न्याय पंचायत में गो आश्रय स्थल के निर्माण की कार्ययोजना बनाने और उसमें एनजीओ को जोडऩे का निर्देश भी दिया। साथ ही बताया कि उनकी सरकार ने निराश्रित गोवंश के पालन के लिए हर इच्छुक को 900 रुपए प्रतिमाह धनराशि उपलब्ध कराई है। कुपोषित परिवारों के लिए एक दुधारू गाय प्रतिमाह 900 रुपए पशु के भरण पोषण के लिए देने का कार्य किया है। अब तक 1200 से अधिक ऐसे परिवारों को गाय दी गई है। 


Content Writer

Ramkesh

Related News