69000 टीचर भर्तीः मेरिट से बाहर हुए हजारों अभ्यर्थी पहुंचे HC, कहा- गलत उत्तर देने वालों का हुआ चयन

punjabkesari.in Tuesday, May 26, 2020 - 09:31 PM (IST)

प्रयागराजः उत्तर प्रदेश प्राथमिक विद्यालयों में 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती से संबंधित कई अभ्यर्थी हाईकोर्ट पहुंच गए हैं। दरअसल ये अभ्यर्थी भर्ती का परिणाम घोषित होने के बाद प्रश्नों के उत्तर विकल्प गलत होने को लेकर 1 या 2 अंक से पीछे रह गए हैं। याचियों का कहना है कि कई सवालों के उत्तर विकल्प गलत होने के कारण, सही जवाब देने के बावजूद उन्हें मेरिट में स्थान नहीं दिया गया है। गलत उत्तर देने वालों को चयनित कर दिया गया है।

बता दें कि अमरेन्द्र कुमार सिंह व 706 अन्य, मनोज कुमार यादव व 36 अन्य, अंशुल सिंह व 29 अन्य और सुनीता व 35अन्य की याचिकाओं की सुनवाई 27 मई को होगी. इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस प्रकाश पाडिया की पीठ के समक्ष याचिकाएं सुनवाई के लिए लगाई गई है। याचिकाओं में मांग की गई है कि गलत उत्तर वाले प्रश्न हटाकर नए सिरे से मेरिट लिस्ट बनाई जाए और घोषित परिणाम रद्द किया जाए। याचिकाओं में अन्य कानूनी मुद्दे भी उठाये गए हैं।

गौरतलब है कि 18 मई से इस भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। बेसिक शिक्षा परिषद परीक्षा में सफल व्यक्तियों से आवेदन ले रहा है. आवेदन के बाद मेरिट के आधार पर अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने की तैयारी चल रही है। वहीं याचियों ने 8 मई 2020 को जारी उत्तर कुंजी में 4 उत्तरों को लेकर आपत्ति जताई है। याचियों के मुताबिक आपत्ति के सम्बंध में सक्षम अधिकारियों की ओर से कोई कार्यवाही न करने पर उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Author

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static