साध्वी निरंजन ज्योति का अखिलेश पर तंज, कहा- कारसेवकों पर गोलियां चलवाने वाले जनता से मांगें माफी

punjabkesari.in Sunday, Dec 05, 2021 - 12:21 PM (IST)

उन्नाव: भारतीय जनता पार्टी की फायर बॉड नेता एवं के केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कांग्रेस और सपा सहित विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवा कर उनकी हत्या की थी।  उन्होंने कहा अपने पिता के किए इस कार्य पर अखिलेश यादव देश की जनता से माफी मांगे।  साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि अखिलेश खुद को श्रीकृष्ण का वंशज बताते हैं, अगर ऐसा है तो मथुरा में भव्य मंदिर बनवाएं। वहीं उन्होंने प्रियंका गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि पहले राजस्थान में महिलाओं को न्याय दिलाये मैं बेटी हूं लड़ सकती हूं उस महिला ने कहा मैं बेटी हूं लेकिन राजस्थान में मर सकती हूं लेकिन अपनी जमीन नहीं छोडूंगी, राजस्थान में दलित उत्पीड़न पर न प्रियंका गांधी कुछ बोलीं, न अखिलेश और न ही मायावती कुछ बोलीं। उन्होंने योगी मोदी की तरीफ करते हुए कहा कि आज गांव तक लाइट पहुंच रही है। परंतु सपा, बसपा सरकार में गांव में बिजली नहीं पहुंचती थी।  आज किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि समय से पहुंच रहा है। अब किसानों के खाते में पैसा पहुंच रहा है, लोग अपने माँ बाप को भोजन नही करा पाते थे, लेकिन हमारे प्रधानमंत्री जी अब 80 करोड़ लोगों को राशन दे रहे हैं।

बता दें कि देवकी नंदन ठाकुर जी महाराज की कथा सुनने व उन से मुलाकात कर आशीर्वाद लेने के लिए पहुंची थी। इस दौरान बीजेपी के नेता भी उनके साथ मौजूद रहे। उन्होंने महिलाओं को 40 फीसदी टिकट आरक्षण पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को घेरते हुए कहा कि राजस्थान में किसकी सरकार है वहां पर महिलाओं को क्यों नहीं वहां पर महिलाओं को 40 फीसदी टिकट दिया जाता है। उन्होंने कहा कि अयोध्या, काशी मथुरा तीनो जगहों पर मंदिर को तोड़कत मस्जिद बनाई गई।  जन्म स्थान नहीं बदला जाता कर्म स्थान बदला जा सकता केजरीवाल,अखिलेश यादव आज भगवान राम के मंदिर में दर्शन करने जा रहे हैं और राहुल जाने की तैयारी में  हैं । अखिलेश वह दिन भूल गए जब कारसेवकों पर उनके पिता ने उन पर गोलियों चलवाई तो तब उन्हे राम नहीं याद आए थे। 

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में जाने की हिम्मत नहीं है महाराष्ट्र में दो संत मारे गए हम चिल्लाते रहे पुलिस के हाथ पकड़े पुलिस ने झटक दिया निर्मम हत्या की गई क्या अब तक  कोई नहीं बोला उन संतों की हत्या पर क्यों नहीं बोला क्या वह भारत के लोग नहीं हैं क्या वह संत नहीं है मुझे आज भी पीड़ा होती है।  देश के लोगों संत की निर्मम हत्या 500 लोगों के बीच में घेर कर मारा जाए तुम चुप हो तब मानव अधिकार कहां गया तब प्रियंका राहुल नहीं  बोलते हैं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static