मेरठ कांग्रेस का आरोप- झूठे मामलों में फंसाने की धमकी देकर रुपए वसूलती है अर्चना गौतम, पार्टी ने 6 साल के लिए किया बाहर

punjabkesari.in Sunday, Oct 01, 2023 - 12:14 PM (IST)

Lucknow/Meerut News: अर्चना गौतम और उनके पिता के साथ यहां कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कथित तौर पर धक्का-मुक्की किए जाने के एक दिन बाद, उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि उन्हें इस साल जून में 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया था। और उनके खिलाफ मेरठ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के एक नेता ने स्पष्ट किया कि राज्य इकाई की अनुशासन समिति ने इस साल 6 जून को गौतम को 6 साल की अवधि के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था। पार्टी नेता ने कहा कि 31 मई को अनुशासनहीनता के लिए उन्हें कारण बताओ नोटिस दिए जाने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था और उन्हें एक सप्ताह के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया।

गौतम के खिलाफ मेरठ में पुलिस अधीक्षक के पास भी दर्ज कराई गई शिकायत
पार्टी नेता ने यह भी कहा कि इस बीच, स्थानीय नेताओं द्वारा गौतम के खिलाफ मेरठ में पुलिस अधीक्षक के पास शिकायत भी दर्ज कराई गई है। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि वह पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान इस्तेमाल किए गए वाहनों के लिए पैसे मांगने पर पार्टी कार्यकर्ताओं को झूठे मामलों में फंसाने और उन्हें परेशान करने की धमकी दे रही थी। मेरठ कांग्रेस के जिला प्रमुख अवनीश काजला सहित मेरठ के कांग्रेस नेताओं ने अपनी शिकायत में यह भी आरोप लगाया कि गौतम के पिता भी पार्टी नेताओं से पैसे लेते रहते हैं और उन्हें झूठे मामलों में फंसाने की धमकी देते हैं। शिकायत में यह भी लिखा है कि उनके पिता ने पार्टी के एक नेता से पांच करोड़ रुपये की मांग भी की थी। पार्टी नेताओं ने अपनी शिकायत में कहा कि गौतम ने पार्टी के एक नेता के खिलाफ मेरठ में मामला दर्ज कराया है, जबकि घटना छत्तीसगढ़ में हुई थी। शिकायत में कहा गया कि अदालत ने इस मुद्दे पर कड़ी आपत्ति जताई और मामले की जांच और आरोपपत्र रोक दिया। इसमें आगे कहा गया है कि जब आवश्यकता होगी, वे (पार्टी नेता) उन लोगों की सूची सौंपेंगे जिन्हें पिता और बेटी ने धमकी दी थी या पैसे की मांग की थी।

वायरल वीडियो में कांग्रेस पार्टी कार्यालय के बाहर 'मदद' मांगते हुए दिखाया गया
आपको बता दें कि यह शिकायत पत्र उस समय सामने आया है जब एक दिन पहले ही शुक्रवार दोपहर को उनके और उनके पिता के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार किया गया था जब उन्होंने यहां पार्टी मुख्यालय में प्रवेश करने की कोशिश की थी। गौतम के मुताबिक, वह पिछले हफ्ते संसद में महिला विधेयक पारित होने पर पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मिलकर उन्हें बधाई देना चाहती थीं। सोशल मीडिया पर राजनेता के एक वायरल वीडियो में उन्हें कांग्रेस पार्टी कार्यालय के बाहर 'मदद' मांगते हुए दिखाया गया है। वीडियो में, गौतम और उनके पिता को लोगों से घिरा हुआ देखा जा सकता है, जिन्होंने कथित तौर पर उन्हें पार्टी कार्यालय में प्रवेश करने से रोका और उनके साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार किया। उन्हें 2022 के चुनाव में उत्तर प्रदेश की हस्तिनापुर विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारा गया था, लेकिन हार गईं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static