धर्म और जाति के नाम पर वोट मांगने वाले नेताओं से सावधान रहें: प्रियंका गांधी वाड्रा

punjabkesari.in Sunday, Feb 20, 2022 - 06:51 PM (IST)

रायबरेली: कांग्रेस की राष्‍ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्राने रविवार को जनता से धर्म और जाति के नाम पर वोट मांगने वाले नेताओं से सावधान रहने की अपील की।

प्रियंका रायबरेली के जगतपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित करते जनता से अपने हक के लिए जागरूक होने का आह्वान किया। प्रियंका ने कहा,‘‘ एक तरफ प्रदेश में हुनर है, नौजवान हैं, उपजाऊ जमीन है, दूसरी तरफ किसानों की परेशानी, महिलाओं पर अत्याचार, बेरोजगारी, दलितों पर अत्याचार है। यह सब क्‍यों हो रहा है क्योंकि जो राजनीति आपके सामने आई है, वह सिर्फ आपको गुमराह करने वाली राजनीति है।'' उन्होंने कहा,‘‘ जो नेता हैं, वे समझ नहीं रहे कि उनका काम क्या है। वे सोच रहे हैं कि पांच साल बाद यहां आएंगे, धर्म की बात करेंगे, आपके जज्बातों को उभारेंगे, आपको असुरक्षित महसूस कराएंगे, आपकी जाति की बात करेंगे और आपका वोट पा लेंगे।'' कांग्रेस महासचिव ने आरोप लगाया कि भाजपा आम लोगों की सेवा करने के अपने 'राजधर्म' को भूल गई है और केवल बड़े कारोबारियों के लिए काम कर रही है। 

वाड्रा सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘‘(प्रधानमंत्री नरेंद्र)मोदी ने लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ितों से मिलने की जहमत नहीं उठाई और जब चुनाव नजदीक थे तभी उन्होंने विरोध करने वाले किसानों से माफी मांगी और तीनों कृषि कानून वापस लिया।'' प्रियंका ने कहा कि ‘‘मेरे पिताजी (राजीव गांधी) भी प्रधानमंत्री थे और वह लोगों से मिलते थे और आम लोगों के घरों में भी जाते थे।'' समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी हमला करते हुए प्रियंका ने कहा कि ‘‘उन्होंने उत्तर प्रदेश में अपने तीन साल के काम में उन्हें कभी लोगों के लिए काम करते नहीं देखा।'' उन्‍होंने आरोप लगाया, ‘‘अखिलेश यादव अपने घर से कभी नहीं निकलते और चुनाव से ठीक पहले वह वोट मांगने के लिए अपनी बस में निकले हैं। पिछले तीन वर्षों में महिलाओं के साथ बलात्‍कार हुए लेकिन अखिलेश यादव और (बसपा प्रमुख)मायावती कहीं नहीं दिखे।'' ऊंचाहार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा एक ऐसे मॉडल पर काम कर रही है जहां आम आदमी की मेहनत से अमीर व्यापारी लाभान्वित हों। उन्‍होंने आरोप लगाया कि "भाजपा ने आवारा मवेशियों के मुद्दे को हल करने के लिए कुछ नहीं किया है। यूपी में सरकारी गौशालाओं में जानवर भूख से मर रहे हैं और उन्हें जिंदा दफनाया जा रहा है। हमारी सरकार छत्तीसगढ़ में लागू किए जा रहे मॉडल के तहत लोगों द्वारा अपनाए गए आवारा मवेशियों का गोबर खरीदेगी।" 

उन्होंने दावा किया, ‘‘कांग्रेस ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो समाज में गरीबों के उत्थान और विकास के लिए काम करती है लेकिन उप्र में दूसरे दल सिर्फ धर्म या जाति की राजनीति करते हैं।" कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘कोई यह नहीं सोच रहा कि अगर मैं काम नहीं करूंगा, मैं छोटे दुकानदारों की मदद नहीं करुंगा, यहां की सड़कें नहीं बनाऊंगा, यहां के लिए शिक्षण संस्थान नहीं बनाऊंगा तो मुझे वोट नहीं मिलेगा, सब सोच रहे हैं कि धर्म, जाति के नाम पर आपसे वोट ले लेंगे।'' कांग्रेस नेता ने डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दाम और महंगाई का जिक्र करते हुए,‘‘ पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ने का उचित दाम नहीं मिलता और सबसे बड़ी समस्या आवारा पशुओं की है जो आपके खेतों को चर रहे हैं।'' उन्होंने कहा,‘‘ सरकार कह रही है कि वह आपको एक बोरी राशन दे रही है लेकिन जितना राशन दे रही है उससे ज्यादा तो जानवर खेतों में फसलें खा रहे हैं।'' 

प्रियंका आरोप लगाया,‘‘ किसान के गन्ने का 16 हजार करोड़ रुपये बकाया है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों का बकाया दिलाने के बजाए दो हवाई जहाज अपने लिए खरीदे हैं और पूरी दुनिया में घूम रहे हैं।'' प्रियंका गांधी ने ऊंचाहार, गौरा में नुक्कड़ सभा की और उसके बाद रायबरेली विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में डिग्री कालेज चौराहा से रोड शो किया।
नननन


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Imran

Related News

Recommended News

static