राजनीतिक अखाड़ा बना बसवार गांव, सपा-कांग्रेस के बाद निषाद समुदाय से मिले BJP मंत्री, कहा- नहीं होगा.

2/28/2021 1:06:38 PM

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी सियासी जमीन मजबूत बनाने में जुट गई हैं। इस बीच प्रयागराज में घूरपुर के बसवार गाँव में निषादों पर राजनीति पूरी तरह देखने को मिल रही है। सपा, कांग्रेस सहित कई छोटी पार्टियां निषादों को साधने का जमकर प्रयास कर रही हैं। यहां तक की प्रियंका गांधी ने पीड़ित निषादों को 10 लाख का चेक भी भेजा है।

PunjabKesari
वहीं बीजेपी भी इस मुद्दे को पीछे नहीं छोड़ रही है। कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और साँसद रीता बहुगुणा जोशी पूरे पुलिस महकमें के साथ निषादों की बस्ती पहुँचे। जहां उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए निषाद समुदाय से जुड़े लोगों और पीड़ित परिवारों को आश्वासन दिया कि उनके साथ अन्याय नहीं होगा।

PunjabKesari
इस दौरान दोनों ही नेताओं ने NGT का हवाला देकर ये बताने की कोशिश करते रहे की खनन रोकने में उनका कोई लेना देना नहीं है। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए निषादों की रोजी रोजगार के लिए बीच का रास्ता निकालने का वादा किया। मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि उनको खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भेजा है और उनके साथ सभी प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद हैं। पूरे प्रकरण की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश हैं जिसकी रिपोर्ट 10 दिन के अंदर आएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, चाहे वह जितना बड़ा अफसर ही क्यों न हो।

 


Content Writer

Umakant yadav

Related News