चक्रवाती तूफान ''यास'' का पूर्वी UP के इन 25 जिलों पर रहेगा असर, भारी बारिश की संभावना

5/27/2021 6:56:17 PM

लखनऊ: भारतीय तटों से टकराने के बाद चक्रवाती तूफान 'यास' भले ही कुछ कमजोर पड़ गया हो लेकिन उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में अगले एक-दो दिन में भारी बारिश के रूप में इसका असर पड़ने की प्रबल संभावना है। लखनऊ स्थित मौसम केंद्र ने शुक्रवार और शनिवार को राज्य के पूर्वी हिस्सों के 19 जिलों में बहुत भारी बारिश होने तथा छह जिलों में सामान्य से भारी वर्षा होने का अनुमान लगाया है ।

मौसम केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार श्रावस्ती, बलरामपुर, गोंडा, सिद्धार्थ नगर, बस्ती, संत कबीर नगर, महराजगंज, कुशीनगर, गोरखपुर, देवरिया, बलिया, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, वाराणसी, चंदौली और सोनभद्र जिलों तथा उनके आसपास के इलाकों में तेज हवा चलने और भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है। इसके अलावा अयोध्या, सुल्तानपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, संत रविदास नगर और मिर्जापुर जिलों तथा उनके आसपास के क्षेत्रों में भी तेज हवा चलने तथा सामान्य से भारी वर्षा होने की संभावना जताई है।

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी हिस्सों के कुछ इलाकों में वर्षा हुई। इस दौरान गायघाट (बलिया) में सबसे ज्यादा तीन सेंटीमीटर तथा नौतनवा, त्रिमोहानी घाट तथा फरेंदा (महराजगंज) और सकलडीहा (चंदौली) में दो-दो सेंटीमीटर, निचलौल (महराजगंज), बलिया, उस्काबाजार (सिद्धार्थ नगर) दुद्धी (सोनभद्र), बांसगांव (गोरखपुर) तथा देवरिया में एक-एक सेंटीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के वाराणसी, गोरखपुर तथा आगरा मंडलों में दिन के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई। वहीं, वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर, गोरखपुर, अयोध्या, लखनऊ, बरेली तथा झांसी मंडलों में यह सामान्य से नीचे रहा। पिछले 24 घंटों के दौरान झांसी राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा, जहां अधिकतम तापमान 42.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Recommended News

static