UP Election 2022: पायलट ने कहा- आगामी विधानसभा चुनाव में आश्चर्यजनक परिणाम देगी कांग्रेस

punjabkesari.in Tuesday, Nov 02, 2021 - 06:43 PM (IST)

लखनऊ: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद सचिन पायलट ने मंगलवार को दावा किया कि उत्तर प्रदेश की जनता आगामी विधानसभा चुनाव में वास्तविक बदलाव चाहती है और उनकी पार्टी एक बेहतर विकल्प के तौर पर उभर रही है। सोमवार को लखनऊ पहुंचे पायलट ने दावा किया कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में आश्चर्यजनक परिणाम देगी। 

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी पार्टी ने अपनी परंपरा का पालन करते हुए उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के दावेदार के तौर पर किसी के भी नाम की घोषणा नहीं की है, लेकिन पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा निश्चित रूप से आगे आकर दल का नेतृत्व करेंगी। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा पिछले दो ढाई दशकों के दौरान उत्तर प्रदेश की सत्ता में रहीं मगर ज्यादातर लोगों की यह राय बन रही है कि वे इन दोनों पार्टियों में से किसी को सत्ता में लाने के बजाए वास्तविक बदलाव चाहते हैं। पायलट ने कहा "मैं समझता हूं कि कांग्रेस बिल्कुल सही स्थिति में है और उत्तर प्रदेश में हमारे प्रयास अच्छे परिणाम देंगे लेकिन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि लोग सबसे बेहतर विकल्प की तरफ देख रहे हैं जिसे भाजपा के खिलाफ समर्थन दिया जा सके। मेरा मानना है कि कांग्रेस एक बेहतर विकल्प के तौर पर तेजी से उभर रही है।" वहीं, राजस्थान की टोंक सीट से कांग्रेस के सांसद पायलट ने कहा "वर्ष 2019 के पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान सपा और बसपा एक दूसरे को समर्थन देकर जनता के सामने बेनकाब हो गईं। प्रमुख विपक्षी दल होने के नाते समाजवादी पार्टी जमीन पर ज्यादा नजर आ रही है मगर मुझे नहीं लगता कि यह उसके लिए काफी होगा।"

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में भाजपा को वास्तविक चुनौती दे रही है। कांग्रेस उत्तर प्रदेश में भले ही छोटी नजर आ रही हो लेकिन वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार के खिलाफ कहीं ज्यादा मुखर दिखाई दे रही है। वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में संगठित विपक्ष की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर पायलट ने कहा "कोई एक ऐसी पार्टी जो भाजपा को वास्तव में चुनौती देकर उसे हरा सकती है तो वह सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस ही है। देश की कोई दूसरी पार्टी ऐसा नहीं कर सकती।" उन्होंने कहा "मेरा मानना है कि वाराणसी और गोरखपुर में प्रियंका जी की रैलियों से यह बहुत स्पष्ट संदेश गया है कि लोग आखिर किस तरह की सरकार चाहते हैं। पार्टी द्वारा महिलाओं, दलितों और किसानों पर किए जा रहे अत्याचार और पुलिस द्वारा उत्पीड़न के मामले उठाए जाने को जनता पसंद कर रही है। पार्टी की प्रतिज्ञा यात्राओं को अच्छा समर्थन मिल रहा है।" 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ सत्ता संघर्ष में शामिल रहे 44 वर्षीय सांसद पायलट ने गहलोत के साथ तनातनी की खबरों को गलत बताया। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की भूमिका के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रियंका उत्तर प्रदेश की प्रभारी हैं। जाहिर है और हर कोई यह कह भी रहा है कि वह सबसे आगे आकर हमारा नेतृत्व करने जा रही हैं। हम एक टीम की तरह काम करते हैं। किसानों के आंदोलन को लेकर भाजपा पर हमला करते हुए पायलट ने कहा "करीब एक साल गुजरने के बावजूद भाजपा सरकार नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों से बातचीत क्यों नहीं कर रही है?" उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार जबरदस्त अहंकार से घिरी है और निहित स्वार्थों के कारण वह किसानों को अलग-थलग करने की हर संभव कोशिश कर रही है। पायलट ने लखीमपुर खीरी जिले में पिछले महीने हुई हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि मिश्रा का बेटा आशीष इस मामले में गिरफ्तार किया गया है और उनके मंत्री पद पर बने रहने तक इस मामले में निष्पक्ष जांच कैसे संभव है?


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static