कोरोना संकट के दौर में भी धनउगाही में जुटे जमाखोर, इन चीजों पर बेतहाशा बढ़ा रहे दाम

4/18/2021 7:01:39 PM

लखनऊः कोरोना संक्रमण के कहर की मार से देश भर में लोग दर्द से तड़पकर रह गए हैं। प्रतिदिन संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। इससे इतर संकट के इस दौर में बड़े व्यापारियों ने आपदा में अवसर के रूप में ले लिया है। लॉकडाउन लगने की संभावना को देखते हुए गुटखा, तम्बाकू और सिगरेट के दाम एक बार फिर बेतहाशा बढ़ना शुरू हो गए हैं। थोक व्यापारियों की मनमानी का खामियाजा आम ग्राहक भुगतने को मजबूर है।

गौरतलब है कि बीते वर्ष मार्च माह में जब कोरोना ने पांव पसारना शुरू किया था तो सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया था। तब खाद्य पदार्थों और दवाओं जैसी आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर अन्य सामानों की आपूर्ति प्रभावित हो गई थी। जिसका बखूबी लाभ जिले के बड़े व्यापारियों ने उठाया था। तब पांच रुपए का गुटखा 15 रुपए में बिका था। चूने के साथ पीटकर खाने वाली तम्बाकू भी तीन गुना मूल्य पर बिक रही थी। सिगरेट के दाम भी दो गुने से अधिक हो गए थे। वहीं एक सप्ताह से गुटखा, तम्बाकू और सिगरेट के दाम बढ़ने लगे हैं। पांच रुपए का गुटखा सात रुपए में, छह रुपए का सिगरेट दस रुपए में और पांच रुपए की तम्बाकू आठ रुपए में बिक रही है।

इस बाबत ज्वाइंट मजिस्ट्रेट संजीव कुमार मौर्य कहा कि जमाखोरी करने और अधिक मूल्य वसूलने की सूचना मिलने पर जांच करवाकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बाजारों में चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा। अगर कोई भी दुकानदार या थोक व्यापारी वस्तुओं की फर्जी सार्टेज दिखाकर निर्धारित मूल्य से अधिक वसूलता पाया जाएगा तो उसके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।
 


Content Writer

Moulshree Tripathi

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static