केजरीवाल ही होंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री: अखिलेश

1/26/2020 5:16:05 PM

इटावाः समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम की भविष्यवाणी करते हुये कहा कि कई राज्यों में मुंह की खा चुकी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) दिल्ली के चुनाव में खाता भी नहीं खोल पायेगी और आम आदमी पार्टी (आप) के अरविंद केजरीवाल की एक बार फिर से मुख्यमंत्री के तौर पर ताजपोशी होगी।     

गणतंत्र दिवस के मौके पर सैफई में 158 फुट ऊंचा तिरंगा फहराने के बाद यादव ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। कई राज्यो में भाजपा चारो खाने चित्त हो चुकी है और अब दिल्ली की बारी है जहां उसे शून्य सीट से संतोष करना पड़ेगा जबकि अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे।

उन्होंने कहा ‘‘ देश के संविधान को बचाने के लिए तमाम क्रांतिकारियों ने अपनी जान दी है। ऐसे सभी क्रांतिकारियों की शहादत पर हमको संकल्प लेना चाहिए कि संविधान को बचाने के लिए हम आगे आयेंगे। महात्मा गांधी और बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने समाज के दबे कुचले लोगों के लिये ताउम्र संघर्ष किया। बाबा साहब के बनाये संविधान के लिए संघर्ष हम सभी करते रहेंगे।''

यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की खुशहाली के बगैर देश की तरक्की संभव नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र भी इसी प्रदेश में है लेकिन विडंबना है प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार विकास की बात करने की बजाय नफरत के रास्ते पर चल रही है। ऐसे में आज संकल्प लेना होगा कि नफरत की खाई को पनपने की बजाय पाटने का काम करेंगे। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की गांधी यात्रा पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी शान्ति यात्रा का संदेश देश के हर नागरिक तक पहुंचेगा यही उम्मीद है।

नागरिक संशोधन कानून (सीएए) का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है। अगर किसी बात से असहमति है तो सरकार की जिम्मेदारी बननी चाहिए कि इसकी सुनवाई करे और उस पर विचार करे। इस समय बोलने की आजादी से केवल सरकार के पास है सरकार जो चाहे वह बोल सकती है। उन्होने कहा कि संतो के मुख से सदैव सत्य वचन ही निकलते है लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मामले में यह बात गलत हो जाती है क्योकि वह संत होने के वावजूद सत्य के अलावा और सब कुछ बोलते हैं। 


Tamanna Bhardwaj

Related News