कोरोना टेस्ट न कराने पर कोटेदार ने राशन देने से किया मना, गुस्साए ग्रामीणों ने जांच टीम पर बोला हमला

punjabkesari.in Saturday, May 29, 2021 - 12:03 PM (IST)

बाराबंकीः यूपी के बाराबंकी में उस समय हड़कंप मच गया जब कोरोना जांच न कराने पर एक कोटेदार ने राशन देने से इनकार कर दिया। जिसके बाद ग्रामीणों की नाराजगी इतनी बढ़ी कि वे लोग लाठी डंडा लेकर जांच टीम को मारने पीटने के लिए दौड़ पड़े। जांच टीम के सदस्य किसी तरह जान बचाकर मौके से भागे। इसके बाद ग्रामीणों ने कोटेदार का राशन वितरण रजिस्टर भी फाड़ दिया।

मामला बाराबंकी में कोठी थाना के कोटवा गांव का है। जहां कोटे की दुकान पर कोरोना टेस्ट करने गई टीम पर ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। जिसके बाद कोरोना जांच करने गई टीम ने किसी तरह मौके से भागकर अपनी जान बचाई। दरअसल गांव में बंसीलाल नाम के कोटेदार की दुकान पर सीएचसी कोठी की टीम राशन लेने वाले लोगों का कोरोना टेस्ट कर रही थी। जहां कुछ लोगों ने टेस्ट कराया, लेकिन थोड़ी देर बाद कुछ ग्रामीण राशन लेने आए तो उन्होंने कोरोना टेस्ट कराने से मना कर दिया। जिस पर कोटेदार ने टेस्ट कराने के बाद राशन देने की बात कहीं। जिसके बाद भी ग्रामीण नहीं माने।

कोटेदार द्वारा कई बार जांच कराने की बात से ग्रामीण भड़क गए और घरों से लाठी-डंडों से लैस होकर मौके पर पहुंचे गए। सभी मौके पर विवाद करने लगे। विवाद से ग्रामीणों की नाराजगी इतनी बढ़ी कि जांच टीम को लाठी डंडा से मारने-पीटने पर उतारू हो गए। जांच टीम के सदस्य किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई। वापस लौटी टीम ने इसकी शिकायत विभाग के आलाधिकारियों समेत कोठी थाने में की।

वहीं ग्रामीणों का कहना है कि महिलाओं एवं कुछ अन्य लोगों ने कोरोना टेस्ट कराने से मना किया तो टीम के लोगों ने महिलाओं से अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए जबरदस्ती अभद्रता के साथ टेस्ट कराने को कह रहे थे। इस घटना से संबंधित वायरल वीडियो में ग्रामीण लाठी-डंडा लेकर शोर मचा रहे हैं। ग्रामीणों को देखकर स्वास्थ्य कर्मी अपना सामान समेटकर कार में बैठने के लिए जाते दिख रहे हैं।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि सीएचसी टीम की तरफ से मिली शिकायत के आधार पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static