लखीमपुर हिंसा: 3 दिन की रिमांड पर भेजा गया आशीष मिश्रा का करीबी दोस्त अंकित दास, 4 घंटे की पूछताछ में खोले कई राज

10/13/2021 4:54:49 PM

लखीमपुर खीरी: केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र ए‍वं तिकोनिया हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा के करीबी दोस्त माने जाने वाले अंकित दास बुधवार को लखीमपुर में अपराध शाखा कार्यालय में विशेष जांच दल (एसआईटी) के सामने हाजिर हुए। इस दौरान पुलिस ने दास को गिरफ्तार कर लिया। करीब 4 घंटे की गहन पूछताछ के बाद एसआईटी ने दास और उसके करीबी वकील काले को गिरफ्तार कर लिया। घटना के समय दोनों काली फॉर्चूनर में सवार थे। इसके बाद पुलिस की विशेष निगरानी समिति ने दोनों को कोर्ट में पेश किया और एसआईटी ने 14 दिन की रिमांड मांगी। जिसके बाद कोर्ट ने अंकित और काले को 3 दिन पुलिस रिमांड पर भेजने का निर्देश दिया। एसआईटी द्वारा अंकित दास से पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे सामने आए हैं। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, अंकित ने बताया कि घटना के वक्त आशीष वहां मौजूद नहीं था। वह राइस मिल पर था।

PunjabKesari
बता दें कि मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने 3 अक्टूबर को हुई हिंसा के सिलसिले में अंकित दास को पूछताछ के लिए बुलाया था। इस हिंसा में चार किसानों सहित आठ लोग मारे गए थे। पुलिस ने बताया कि बुधवार सुबह करीब 11 बजे अंकित दास वकीलों के एक दल के साथ लाइन में लखीमपुर पुलिस स्थित अपराध शाखा कार्यालय पहुंचे। मंगलवार को अंकित दास और उनके चालक लतीफ ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में आत्मसमर्पण के लिए आवेदन दिया था। अंकित दास दिवंगत मंत्री अखिलेश दास के भतीजे हैं। कहा जा रहा है कि चार किसानों को कुचलने वाली कार के पीछे जो फॉर्च्यूनर कार थी वह दास की ही थी।

तीन अक्टूबर की हिंसा के सिलसिले में पुलिस अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। इस मामले में एक आरोपी शेखर भारती को मंगलवार और अंकित दास को आज गिरफ्तार किया गया, जबकि मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा, लवकुश और आशीष पांडे को पहले गिरफ्तार किया गया था।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Recommended News

static