BHU में ‘हिन्दू स्टडीज'' में शुरु होगा MA का कोर्स, छात्रों को मिलेगा शास्त्र का ज्ञान

punjabkesari.in Tuesday, Jan 12, 2021 - 04:48 PM (IST)

वाराणसी: काशी हिंदू विश्वविद्यालय के भारत अध्ययन केंद्र में वर्ष 2021-21 शैक्षिक सत्र से ‘हिंदू स्टडीज' विषय में स्नातक का कोर्स शुरु होने की संभावना है। विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉक्टर राजेश सिंह ने बताया कि भारत अध्ययन केंद्र द्वारा प्रस्तावित स्नातक (एमए) ‘हिन्दू स्टडीज' विषयक महत्त्वपूर्ण पाठ्यक्रम कला संकाय प्रमुख की अध्यक्षता में काशी एवं देश-विदेश के प्रमुख आचार्यों के बोर्ड ऑफ स्टडीज ने सर्वसम्मत से पास कर दिया।

बता दें कि यह कोर्स विश्वविद्यालय में सत्र 2021-22 से विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध होने की प्रबल सम्भावना है। उन्होंने बताया कि हिंदू धर्म के वैशिष्ट्य एवं परम्परा पर आधारित इस पाठ्यक्रम में मुख्य रूप से तत्व एवं प्रमाण विमर्श, वादपरम्परा एवं शास्त्रों के अर्थ निर्धारण की पद्धति, पाश्चात्य ज्ञानमीमांसा, रामायण, महाभारत, स्थापत्य, लोकवार्ता, हिंदू कला, नाट्य, एवं भाषा विज्ञान, सैन्य विज्ञान आदि विषय रखें गये हैं।       

उन्होंने बताया कि बोर्ड ऑफ स्टडीज की बैठक में प्रोफेसर रामनाथ झा (जेएनयू), प्रोफेसर नचिकेता तिवारी, (आई.आई.टी., कानपुर), प्रोफेसर  कमलेश दत्त त्रिपाठी, प्रोफेसर  ब्रजकिशोर स्वाई (उड़ीसा), प्रोफेसर  विंध्येश्वरी प्रसाद मिश्र, प्रोफेसर मालिनी अवस्थी, प्रो. प्रद्युम्न शाह, प्रो. विमलेन्द्र कुमार, प्रो. सच्चिदानन्द मिश्र, प्रो. विजय शंकर शुक्ल, निदेशक, इं.गा.रा.क. केन्द्र, वाराणसी, प्रो. राकेश उपाध्याय, प्रो. केशव मिश्र, विभागाध्यक्ष, इतिहास विभाग, सामाजिक विज्ञान संकाय, डॉ. अर्पिता चटर्जी उपस्थित विद्वानों ने गम्भीर विचार-विमर्श के बाद पाठ्यक्रम पर अपनी संस्तुति दी।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static