अखिलेश का BJP पर हमला- महंगाई, बेरोजगारी से ध्यान भटकाने के लिए लाउडस्पीकर को विवाद बनाया

punjabkesari.in Thursday, Apr 28, 2022 - 10:53 AM (IST)

इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि महंगाई, बेरोजगारी जैसे बुनियादी मुद्दों से ध्यान भटकाने लिए लाउडस्पीकर को विवाद का विषय बना रही है।       

पार्टी के दिवंगत नेता दर्शन सिंह यादव की पत्नी शकुंतला देवी के निधन पर शोक व्यक्त करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में यादव ने बुधवार को कहा कि युवाओं, बेरोजगारों को सरकार से कोई उम्मीद नहीं रही। भाजपा सरकार इन मुद्दों पर बहस नहीं करना चाहती। भाजपा की एक रिसर्च टीम है जो भाईचारा मिटाने के लिए इस तरह से मुद्दों को उछालती रही है। उन्होंने कहा कि कानून व्ववस्था के नाम पर सरकार पूरी तरह से फेल हो रही है। बड़े बड़े महानगरों में अपराधिक वारदातें बढ़ रही है। लखनऊ और अमेठी में भाजपा के लोगों ने पुलिस पर हमला किया।

उन्होंने कहा ‘‘ पहले विपक्ष के लोग सपा पर जातिवाद का आरोप लगाते हैं आज मैं पूंछना चाहता हूं कि एक कोने से दूसरे कोने तक आखिर किस जाति के लोग जिम्मेदार पदों पर बैठे हैं। सभी एक ही जाति के हैं। अब बताइये जातिवादी कौन है।''  यादव ने कहा कि महंगाई का हाल यह है कि डीजल पेट्रोल से लेकर मकान बनाने तक की सामग्री महंगी हो रही है। मकान बनाना मुश्किल हो गया है। सरकार मकान तो दे नहीं पा रही बुलडोजर चलवाकर गरीबों के मकान तुड़़वा रही है। एक तरफ मुख्यमंत्री अपनी 500 मीटर की जगह में बनी दुकानों को तोड़कर 200 करोड़ मुआवजा सरकार से ले लेते हैं। वहीं गरीबों के घर तुड़़वाने का कोई मुआवजा नहीं दे रहे। उनकी मांग है कि जब मुआवजा मुख्यमंत्री को मिल सकता है तो गरीबों को भी मिलना चाहिए।      

उन्होंने कहा कि सपा सरकार होती तो बिजली संकट नहीं रहता। 300 यूनिट बिजली फ्री मिलती। परंतु भाजपा की लखनऊ और दिल्ली में सरकार है इनसे पूंछिए कि कितने मेगावाट बिजली बनाने का कारखाना लगाया है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी पूरी तरह से पूर्व मंत्री आजम खां के साथ खड़ी है। इस मौके पर उनके साथ पूर्व सांसद तेज प्रताप सिंह, जिला अध्यक्ष गोपाल यादव भी मौजूद रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static