CM योगी का निर्देश- प्रयागराज में 2025 में होने वाले महाकुंभ को और दिव्य और भव्य बनाने की करें तैयारी

punjabkesari.in Tuesday, Apr 19, 2022 - 08:13 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अधिकारियों को आगामी 2025 में प्रयागराज में होने वाले महाकुंभ को 2019 के कुंभ की तुलना में अधिक भव्य बनाने का निर्देश दिया। मंगलवार को मंत्रिमंडल के समक्ष नगर विकास विभाग की कार्य योजनाओं के प्रस्तुतीकरण के दौरान  योगी आदित्यनाथ ने विभागीय अधिकारियों को कहा कि प्रयागराज कुंभ-2019 को पूरी दुनिया ने देखा है। उन्होंने कहा कि धार्मिक और आध्यात्मिक कलेवर के साथ कुंभ के दौरान वैश्विक स्तर पर स्वच्छता, सुरक्षा व सुव्यवस्था का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया और सबने उसकी सराहना की। उन्होंने कहा कि अब जबकि महाकुंभ 2025 समीप है, तो लोगों की हमसे अधिक अपेक्षाएं होंगी और इसका ध्यान रखते हुए 2025 के महाकुंभ को दिव्य और भव्य बनाने की तैयारी की जाए। योगी ने आस्था से जुड़े नगरों वाराणसी, मिर्जापुर और चित्रकूट में रोप-वे सेवा को यथाशीघ्र प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।

उन्होंने सभी नगर निगमों में इलेक्ट्रिक बस सेवा शुरू करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि 14 नगरों में संचालित ई-बसों के बेड़े को अगले 100 दिनों में दोगुना किया जाए। स्थानीय मांग के अनुसार नए रूट पर भी इस सेवा को शुरू कराएं। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के खतरे को देखते हुए हमें जरूरी प्रयास करने चाहिए और इस दिशा में अयोध्या को 'क्लाइमेट स्मार्ट सिटी' का स्वरूप दिया जा सकता है। योगी ने इको टूरिज्म की असीम संभावनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि इको टूरिज्म बोर्ड के गठन पर विचार किया जाए। स्मार्ट सिटी परियोजना में समयबद्धता और गुणवत्ता का ध्यान रखने की हिदायत के साथ योगी ने आगामी पांच वर्षों में 220 नगरों को स्मार्ट बनाने का लक्ष्य लेकर कार्य करने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब के 'अपना घर' का सपना पूरा किया है और इस अभियान में राष्ट्रीय स्तर पर उत्तर प्रदेश की सराहना भी हुई है।

योगी ने अगले छह माह में 2.51 लाख नए आवास बनाने का लक्ष्य लेकर तेजी से कार्य करने के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी। अगले 100 दिनों के लक्ष्य निर्धारित करते हुए उन्होंने कहा कि अगले 100 दिनों के भीतर मिशन पिंक टॉयलेट के तहत महिलाओं की सुविधा के लिए 10,000 नए प्रसाधन कक्ष बनाये जाएं और नगरों में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के कार्य में सुधार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अगले 100 दिनों में हमारा लक्ष्य हो कि सभी घरों तक इस सेवा का लाभ पहुंचे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static