महाशिवरात्रिः भक्त नहीं कर सकेंगे बाबा विश्वनाथ का स्पर्श, ये रहेगा दर्शन-पूजन का नियम

3/4/2021 4:57:39 PM

वाराणसीः उत्तर प्रदेश स्थित शिवनगरी वाराणसी में प्रत्येक वर्ष महाशिवरात्रि पर बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन के लिए भारी संख्या में भीड़ जुटती है। सभी बाबा के दर्शन के लिए लाइन में घंटों लगे रहते हैं। इस बार महाशिवरात्रि पर बाबा भक्तों को झांकी दर्शन देंगे। भक्तों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए व सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर प्रशासन ने ये फैसला लिया है।

बता दें कि वीआईपी, सुगम दर्शन और दिव्यांगों के लिए मंदिर प्रशासन ने अलग द्वार से मंदिर जाने की व्यवस्था की है। महाशिवरात्रि पर कुल चार प्रवेश निर्धारित किए गए है। मैदागिन से आने वाले भक्त छत्ताद्वार के 20 मीटर पहले से मंदिर चौक से मंदिर के पूर्वी गेट से दर्शन करेंगे और उनकी वापसी मणिकर्णिका गली द्वार की तरफ से होगी।

वहीं गोदौलिया से आने वाले भक्त बांस फाटक, धुंडीराज गणेश से मंदिर के पश्चिमी गेट से प्रवेश कर दर्शन करेंगे। इसके अलावा वीआईपी, सुगम दर्शन, दिव्यांगजन छत्ताद्वार से प्रवेश कर मंदिर के दूसरे गेट पर दर्शन कर उसी से वापस हो जाएंगे। स्थानीय लोग सरस्वती फाटक गली से मंदिर में दक्षिणी गेट से दर्शन करेंगे।

इस बाबत वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि महाशिवरात्रि पर किसी भी भक्त को स्पर्श दर्शन की अनुमति नहीं है। इसके साथ ही भक्त गर्भगृह में भी प्रवेश नहीं करेंगे। गर्भगृह के बाहर से भक्त सिर्फ बाबा विश्वनाथ का झांकी दर्शन करेंगे।

 


Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News