मायावती ने भाजपा पर कसा तंज, योगी सरकार के उपलब्धियां को बताया हवा-हवाई

3/19/2021 5:40:52 PM

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी सरकार योगी सरकार के दावों को हकीकत से काफी दूर बताया और प्रदेश में बढ़ते अपराध, महिला उत्पीड़न समेत तमाम मामलों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। बसपा अध्यक्ष मायावती ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि कहा कि अगर वे जमीनी हकीकत में गरीब जनता को लाभ देते तो बेहतर होता। मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ''उप्र में भाजपा सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर काफी शाहखर्ची करके बड़े-बड़े विज्ञापनों व प्रेसवार्ता आदि के माध्यम से जो उपलब्धियां सरकार द्वारा आज गिनाई गई हैं उसमें सच्चाई बहुत कम है अर्थात इनके सरकारी दावे अगर जमीनी हकीकत में गरीब जनता को लाभ देते तो यह उचित होता।''

बसपा प्रमुख मायावती ने न सिर्फ उत्तर प्रदेश की सरकार की आलोचना की बल्कि उत्तराखंड की भाजपा और पंजाब की कांग्रेस सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ''साथ ही, उत्तराखंड में भाजपा व पंजाब में कांग्रेस सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर वहाँ भी जो दावे किए जा रहे हैं वे हवा-हवाई ज्यादा व सही मायने में जनहित व जनकल्याण से काफी दूर। अतः इन तीनों राज्यों की दुःखी व पीड़ित जनता यहाँ अपने राज्यों में सुखद परिवर्तन लाने को बेचैन।'' उन्होंने कहा, ''इसके अलावा उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री द्वारा देश की महिलाओं के अपने पसंद के पहनावे के सम्बंध में जो टिप्पणी की गई है वह अनुचित ही नहीं बल्कि अशोभनीय, अमर्यादित व गैर-जरूरी है। इसके बजाय वे अपने प्रदेश के जनहित व जन समृद्धि की संवैधानिक जिम्मेदारी पर समुचित ध्यान दें, बसपा की यह सलाह।


बता दें कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के गठन के चार वर्ष पूरे होने पर शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, '' हम लोगों ने चार वर्ष में जो परिवर्तन किया है उसने प्रदेश को नई पहचान दी है।'' मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लोकभवन में आयोजित एक समारोह में 'दशकों में जो न हो पाया-चार वर्ष में कर दिखाया' विकास पुस्तिका के लोकार्पण के बाद उन्होंने दावा किया कि अपराध के प्रति सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति के चलते काफी कमी आई है। योगी ने कहा कि सरकार की नीति का परिणाम रहा कि 2014-17 के मुकाबले राज्य में डकैती के मामलों में 45.82 प्रतिशत, लूट के मामलों में 7.15 प्रतिशत, हत्या के मामलों में 19.60  प्रतिशत और बलात्कार के मामलों में 75.83 प्रतिशत की कमी आई है। 


Content Writer

Ramkesh

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static