आजम के मीडिया प्रभारी का गंभीर आरोप, कहा- हमारे कपड़ों से राष्ट्रीय अध्यक्ष को आती है बदबू

punjabkesari.in Tuesday, Apr 12, 2022 - 02:52 PM (IST)

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) विधायक शिवपाल यादव की अपने भतीजे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराजगी की पृष्ठभूमि में जेल में बंद पार्टी के संस्थापक सदस्य विधायक आजम खां के समर्थकों की नाराजगी भी सामने आ रही है। आजम के मीडिया प्रभारी फसाहत अली खान ने रविवार को रामपुर में पार्टी के एक कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाए और कहा कि अखिलेश ने पिछले ढाई साल में आजम को जेल से छुड़ाने के लिए कोई आंदोलन नहीं किया। उनके इस आरोप के बाद सपा में दरारें पड़ने की आशंका प्रबल हो गई है। हालांकि बाद में उन्होंने यह भी कहा कि यह उनका ‘‘निजी दर्द'' है और वह आजम खां से कहेंगे कि अब फैसला लेने का वक्त है। उनका यह बयान ऐसे वक्त आया है जब सपा के वरिष्ठ नेता और विधायक शिवपाल यादव अपनी कथित उपेक्षा को लेकर पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से नाराज हैं और उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही है।

हमारे वोट से सपा की 111 सीटें आई
खान का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने अखिलेश पर निशाना साधते हुए कहा है, ‘‘हमने आपको और आपके वालिद (पिता मुलायम सिंह यादव) को मुख्यमंत्री बनाया। आप (अखिलेश) इतना बड़ा दिल नहीं कर सके कि आजम खान साहब को नेता प्रतिपक्ष बना देते। हमारे वोट से (सपा की) 111 सीटें आई हैं। आपकी जाति ने आप को वोट नहीं दिया। यह कड़वा सच है... लेकिन मुख्यमंत्री आप बनेंगे, नेता विपक्ष भी आप ही बनेंगे?'' अखिलेश पर आजम खां की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘और तो और आपने (अखिलेश) सदन में भाषण दिया। आपने बहुत से लोगों की सीनियरिटी (वरिष्ठता) बताई, तब आपको आजम खां साहब की याद नहीं आई। आजम साहब से ज्यादा सीनियर (वरिष्ठ) कौन विधायक था लेकिन फिर भी अखिलेश यादव जी आपने आजम खां साहब का नाम तक नहीं लिया। आप आजम खां से मिलने जेल तक नहीं गए।'

फसाहत अली खान बोल-मुस्लिम समुदाय  वोट भी देगा और जेल भी जाएगा
 खान ने अखिलेश पर मुसलमानों से हमदर्दी नहीं रखने का भी आरोप लगाया और कहा, ‘‘हमारे कपड़ों से राष्ट्रीय अध्यक्ष को बदबू आती है। वह स्टेज से हमारा नाम नहीं लेना चाहते। मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या सारा ठीकरा अब्दुल (मुस्लिम समुदाय) ने ले लिया है? दरी भी वही बिछाएगा, वोट भी अब्दुल देगा और जेल भी अब्दुल जाएगा? सीएए और एनआरसी में अब्दुल बर्बाद हो जाएगा। उसके घर की कुर्की हो जाएगी। उससे वसूली की जाएगी और आपके (अखिलेश) मुंह से एक शब्द भी नहीं निकलेगा।'' बाद में संवाददाताओं से बातचीत में खान ने कहा कि यह उनका निजी दर्द है और वह आजम खान से कहेंगे कि अब वह कोई निर्णय लें।

सपा प्रवक्ता आशुतोष वर्मा ने आरोपा का किया खंडन
इस बीच, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष वर्मा ने आजम खां के मीडिया प्रभारी द्वारा लगाए गए आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि सपा में जो कद जनेश्वर मिश्र, बेनी प्रसाद वर्मा और अन्य संस्थापक सदस्यों का है उससे ज्यादा बड़ा स्थान आजम खां का है। उनकी उपेक्षा का सवाल ही नहीं है। भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने इस मामले पर कहा कि अखिलेश के अहंकार और अभिमान की कीमत समाजवादी पार्टी चुका रही है। आजम खान सपा के संस्थापक सदस्य हैं और उनके मीडिया प्रभारी द्वारा लगाए गए आरोप अत्यंत गंभीर हैं। उन्होंने कहा हालांकि यह समाजवादी पार्टी का अंदरूनी मामला है। मगर यह भी सच है कि अखिलेश यादव के नेतृत्व पर उनकी ही पार्टी के लोग सवाल कर रहे हैं।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static