पंडित दीनदयाल ने समाज सेवा में लगा दिया पूरा जीवनस, माथुरा में बोलीं- आनंदीबेन पटेल

punjabkesari.in Sunday, Sep 25, 2022 - 10:35 PM (IST)

मथुरा: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक सदस्य रहे पं दीन दयाल उपाध्याय की रविवार को जयंती के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि दीनदयाल जी ने अपना पूरा जीवन समाज सेवा में खपा दिया था।              

‘अंत्योदय' के विचारों को आगे बढ़ायें छात्र: पटेल
राज्यपाल ने दीनदयाल धाम नगला चन्द्रभान में आयोजित पं दीनदयाल उपाध्याय स्मृति महोत्सव के अन्तर्गत राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा कि त्याग और सेवा भाव को जीवन में लागू करने के लिये दीनदयाल जी प्रेरणा पुंज थे। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र, महिलाओं की उन्नति, बच्चों की शिक्षा, अर्थव्यवस्था में सुधार और समाज में सामंजस्य, शांति, सछ्वाव स्थापित करने का तरीका दीनदयाल जी के एकात्म मानव दर्शन में सीखने को मिलता है। उनके विचारों को धरातल पर उतारते हुए यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वे जन जन तक कैसे पहुंचें। उन्होंने नयी पीढ़ी से आह्वान किया कि विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्र, वे जब उस विश्वविद्यालय से बाहर जायें तो ‘अंत्योदय' के विचारों को आगे बढ़ायें, यह उनका कर्तव्य है।       

पटेल ने ‘बाल विवाह’ रोकने पर दिया बल
महिलाओं की शिक्षा, सुविधा एवं सुरक्षा के लिए अधिक प्रयास करने की आवश्यकता पर बल देते हुए राज्यपाल ने कहा कि महिलायें चाहे साक्षर हों या कम पढ़ी लिखी हों, उन सभी में कुछ न कुछ करने का जुनून रहता है। महिलाओं को शिक्षा मिल जाती है, तो वह अपना कौशल जरूर दिखाती हैं। उनका कहना था कि उन्होंने गुजरात, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में भी यह देखा है कि महिलायें घर के काम के साथ बच्चों का पालन पोषण करते हुए भी शिक्षित हुई है और अपने तरीके से आय के स्त्रोत खोज रही हैं। राज्यपाल ने दहेज प्रथा को अभिशाप बताते हुए कहा कि इससे परिवार बर्बाद हो जाते हैं। उन्होंने बाल विवाह रोकने में सहयोग करने पर भी बल दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static