PM आवास योजना: लाभार्थियों के खाते में CM योगी ने डाले 1341.17 करोड़ रुपये, लोगों ने कहा- 30 साल से किसी सरकार ने कुछ नहीं दिया

punjabkesari.in Tuesday, Aug 31, 2021 - 10:31 AM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम लिए बिना कहा कि पहले चेक या नकद वितरण में भ्रष्टाचार होता था। एक समय था कि जब एक प्रधानमंत्री कहते थे कि वह दिल्ली से 100 रुपये भेजते हैं, जिसमें से आम आदमी को महज 15 रुपये मिलता है और बाकी के 85 रुपये बिचौलिये हड़प जाते हैं, लेकिन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तकनीक की मदद से ऐसी व्यवस्था कर दी है, जिससे 100 रुपये स्वीकृत होने पर शत प्रतिशत राशि लाभार्थी को मिलती है।

बता दें कि सोमवार को पांच कालिदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर जन्माष्टमी की बधाई देते हुए योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत दो लाख 853 लाभार्थियों के खाते में 1341.17 करोड़ रुपये ऑनलाइन हस्तांतरित किए। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘हमारा प्रयास है कि प्रधानमंत्री की मंशा के तहत 2022 तक हर जरूरतमंद गरीब को एक आवास उपलब्ध कराया जाय जो, इस पात्रता की श्रेणी में आता है।’’

सीएम योगी ने दावा किया, ‘‘आवास के लिए पैसे चाहिए या व्यवसाय के लिए लोन, अगर आप अर्हता पूरी करते हैं तो बिना सिफारिश, बिना घूस, पूरी मदद मिलनी तय है और अब तो बैंक जाने की भी जरूरत नहीं क्योंकि गांव-गांव में बैंकिंग कॉरेस्पोंडेंट-सखी तैनात हैं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘2017 के पहले प्रधानमंत्री आवास योजना में उत्तर प्रदेश का कोई स्थान नहीं था, क्योंकि तत्कालीन राज्य सरकार की रुचि नहीं थी कि वह भारत सरकार की योजना का लाभ प्रदेश के गरीबों को दे, लेकिन 2017 के बाद नगरीय या ग्रामीण क्षेत्र में भारत सरकार की हर योजना का लाभ पहुंचाने के जो प्रयास हुए और उत्तर प्रदेश ने देश में सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त किया।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) एवं प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी की। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) योजना की लाभार्थी मिर्जापुर की निर्मला से बातचीत में योगी ने कहा कि यह लाभ पहले भी मिल सकता था, लेकिन पिछली सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री स्व निधि योजना के लाभार्थियों से अपने कारोबार को डिजिटल भुगतान से जोड़ने के लिए भी कहा। ललितपुर के ओम प्रकाश ने बताया कि बीते 30 साल से कभी किसी सरकार ने उन्हें कुछ नहीं दिया, आज सब मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने ओमप्रकाश के मूक बधिर बेटे के इलाज के लिए सभी जरूरी प्रबंध के निर्देश दिए।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static