24 घंटे के अंदर पुलिस ने किया ट्रिपल मर्डर का खुलासा, इस वजह से दिया गया था वारदात को अंजाम

punjabkesari.in Monday, Jan 11, 2021 - 11:23 AM (IST)

बस्ती: उत्तर प्रदेश की बस्ती जिला पुलिस ने छावनी क्षेत्र में हुए तिहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए  तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस महानिरीक्षक अनिल कुमार राय ने तिहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि छावनी क्षेत्र में 2 अलग-अलग स्थानों पर 3 शव बरामद किए गए थे। इनकी शिनाख्त सोनू मौर्य, राज कुमार गौतम, तथा मो. असलम के रुप में की गई थी। तीनों लोग बिहार से आलू बेच कर वापस उन्नाव व कानपुर जा रहे थे । उन्होंने बताया कि तीनों की हत्या लूट के इरादे से योजना के तहत की गई थी। इनकी हत्या सब्जी काटने वाले चाकू तथा गम्छे और रॉड से की गई थी। हत्यारों ने हत्या के बाद अलग-अलग स्थानों पर शव छिपा दिए थे।

उन्होंने बताया कि इस घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस की टीमें लगाई गई थी और पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए तीन हत्यारों अजीत उर्फ कल्लू निवासी ग्राम इन्दे मऊ थाना बीघापुर, अरूण कुमार यादव उर्फ गोलू निवासी ग्राम गोसीखेड़ा थाना बारासगवर उन्नाव और तीसरा आरोपी कौशांबी जिले के भानीपुर निवासी शीलू कुमार मौर्या उर्फ शीलू शामिल है। उन्होंने बताया कि घटना के 24 घंटे के भीतर हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त दो ट्रक, एक देशी पिस्तौल, कुछ कारतूस, एक चाकू, लोहे की रॉड, 3 मोबाइल फोन, 2550 रूपए की नकदी बरामद की गई।

राय ने बताया कि लूट का पैसा लाने के लिए पुलिस टीम लगी हुई है और शीघ्र ही पैसा भी बरामद कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि हत्या में लिप्त तीनों हत्यारें आलू तथा प्याज लादकर बेंचने के लिए ले जा रहे थे सर्विलांश तथा जीपीएस के जरिए तीनों की गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ में बताया कि राजकुमार तथा अजीत उफर् कल्लू और आपस के लोगों द्वारा मंडी में हमेशा हंसी मजाक होता रहता था । ये लोग एक दूसरे के परिचित थे और चकरपुर मंडी कानपुर नगर से माल लादकर अक्सर बिहार जाते रहते थे।

8 जनवरी की देर शाम करीब 8 बजे इन सभी लोगों की मुलाकात कुशीनगर जिले के कस्बा हाटा में एक दुकान पर हुई वहां से खाना खाने के बाद सोनू मौर्या, राज कुमार गौतम एवं व्यापारी मो. असलम (मृतक), ट्रक से चल दिए। वहीं हत्यारे हत्या की योजना बनाकर वह भी अपनी ट्रक लेकर इनके पीछे निकले। लूट की योजना पहले से ही थी और इन्हें पता चला कि ट्रक में एक व्यापारी भी है। इन लोगों ने ट्रक को ओवर टेक करते हुए कस्बा छावनी के आगे नई बाजार के समीप रोक लिया वहीं पर गोलू व अजीत ने गाड़ी चला रहे सोनू मौर्या को कहा कि तुम्हारा टायर पंक्चर हो गया है, जैसे ही वह नीचे उतरा तुरन्त गले पर वार करके उसकी हत्या कर दी। उसी दौरान केबिन में सो रहे राजकुमार गौतम और मो. असलम की भी चाकू व रॉड से हत्या कर दी गई।

राय ने बताया कि हत्या के बाद अजीत सिंह दूसरी गाड़ी को स्वयं चलाकर घटना स्थल से करीब 3 किलोमीटर आगे आदेश ढाबे के निकट खड़ी कर दी और व्यापारी से साढ़े 6 लाख रूपया लूट कर पीछे आ रही अपनी गाड़ी पर बैठ कर चल दिया। इस घटना को अंजाम देने के लिए काफी दिनों से ये लोग योजना बना रहे थे कि व्यापारी अक्सर पैसा लेकर आते है रास्ते में इनसे पैसा लूट लिया जाए।

घटना के सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने बताया कि इन लोगों में लगभग 15 दिन कहासुनी हुई थी। अक्सर इन लोगों में कहासुनी होती रहती थी। पुलिस ने इन लोगों की गिरफ्तारी और घटना का खुलासा करने के लिए जो टीम लगाई थी उस टीम द्वारा इनके ट्रक के नम्बर से सभी टोल प्लाजों और सीसीटीवी फुटेज को खगालने के बाद घटना का खुलासा हो पाया है। उन्होंने बताया कि भी लोगों ने शराब पी रखी थी। पुलिस महानिरीक्षक अनिल कुमार राय ने गिरफ्तार करने वाले पुलिस बल को बतौर इनाम 50 हजार रुपए दिया। गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static