UP Election 2022: सपा का आरोप- BJP नेताओं के इशारे पर कार्यकर्ताओं को लाल कार्ड देकर धमका रही पुलिस

punjabkesari.in Sunday, Feb 13, 2022 - 07:19 PM (IST)

झांसी: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक दलों के बीच आरोप प्रत्यारोपों के बीच रविवार को झांसी में समाजवादी पार्टी ने पुलिस प्रशासन पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं के इशारे पर उनके कार्यकर्ताओं को चिंहित कर धमकाने का आरोप लगाया है। पाटी जिलाध्यक्ष महेश कश्यप ने इस संबंध में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार को पत्र देकर सूचित करते हुए बताया कि जनपद मे भाजपा नेताओं के इशारे पर पुलिस प्रशासन द्वारा सपा कार्यकर्ताओं को चिंहित कर लाल कार्ड व मौखिक रूप से धमकाने का कार्य किया जा रहा है जो उचित नहीं है। उन्होंने इस भेदभाव पूर्ण कार्रवाई पर तत्काल रोक लगा कर दोषियों पर कार्यवाही करने का आग्रह किया ताकि कार्यकर्ता व मतदाता अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का निर्भीकतापूर्वक उपयोग कर सकें।                     

सपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि जनपद के सकरार थानाध्यक्ष द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओं को चिन्हित कर परेशान व आतंकित किया जा रहा है लाल कार्ड के माध्यम से धमकाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि भारतीय जनता पार्टी को सत्ता जाने का भय सताने लगा है जिस तरह से पुलिस का सहारा लेकर कार्यकर्ताओं को परेशान किया जा रहा जबरन लाल कार्ड दिया जा रहा है जिसमें बताया गया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 के प्रचार एवं मतदान के दौरान अन्य व्यक्तियों के साथ विधि विरुद्ध कृत्य कर अव्यवस्था फैलाई जा सकती है एवं चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास किया जा सकता है पुलिस प्रशासन ने नोटिस के माध्यम से सचेत किया कि चुनाव प्रक्रिया शांतिपूर्ण संपन्न कराने में व्यवधान उत्पन्न होता है तो आप के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी का इस तरह से गिर जाना यह उचित नहीं। जबरन सपा कार्यकर्ताओं को लाल कार्ड देना निंदनीय है सत्ता तो आती जाती रहती है लोकतंत्र में सभी को अधिकार प्राप्त होता है कि अपने मत का प्रयोग निर्भीकता पूर्वक किया जाये। प्रशासन को भी इस ओर ध्यान देना चाहिए उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अकेले पूरे प्रदेश में भ्रमण कर रहे हैं जिससे जनता का अपार जनसमर्थन मिल रहा है। उन्होंने भाजपा के एजेंट के रूप में कार्य करने वालों को हटाने की मांग की व भेदभाव पूर्ण कार्रवाई पर तत्काल रोक लगा दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आग्रह किया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री अजय सूद, नरेन्द्र झा,सलमान पारीछा, आरिफ खान, पं सतेन्द्रपुरी गोस्वामी, जुगल किशोर पाल, नासिर सलमानी, ठाकुर हर्ष सोंलकी, विक्रम यादव, सतीश रायकवार, महेश कुशवाहा मौजूद रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static