प्रयागराज: 69000 शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े का खुलासा करने वाले SSP का ट्रांसफर

punjabkesari.in Tuesday, Jun 16, 2020 - 01:12 PM (IST)

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में सोमवार देर रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल हुआ। जिसमें 14 आईपीएस अधिकारियों स्थानांतरण किया गया। सबसे खास बात ये कि 69000 शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े का खुलासा करने वाले SSP सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज काे भी सरकार ने नहीं छाेड़ा। उन्हें भी प्रयागराज से हटा दिया गया  हालांकि वह अभी प्रतीक्षारत हैं। उनके स्थान पर अभिषेक दीक्षित को प्रयागराज का नया एसएसपी बनाया गया है।

बता दें कि सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने प्रदेश में चल रही 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े का खुलासा किया था। जिसमें उनकी पूरी टीम शामिल थी। इस मामले में कई गिरफ्तारी भी हुई हैं। अब इस मामले की जांच यूपी की टॉस्क फोर्स एसटीएफ कर रही है। जो फर्जीवाड़े के मुख्य आरोपी चंद्रमा यादव की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है। 

SSP ने राहुल की तहरीर पर दर्ज कराया था मुकदमा
69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती में चल रहे फर्जीवाडे को लेकर 4 जून को प्रतापगढ़ के एक अभ्यर्थी राहुल सिंह ने एसएसपी से संपर्क किया था जिसके तुरंत बाद कार्रवाई शुरू हो गई। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने राहुल की तहरीर पर सोरांव थाने में मुकदमा दर्ज कराया। 

गैंग के कई माफियाओं से 22 लाख से अधिक कैश बरामद
एसएसपी ने शिक्षा जगत की बुनियाद में सेंध लगाकर ईमानदार, परिश्रमी अभ्यर्थियों का हक मारने वाले माफियाओं का तंत्र ध्वस्त करने के लिए एएसपी अशोक वेंकटेश और अनिल यादव को लगाया। जिसके कुछ ही घंटों बाद  परिणाम आना शुरू हो गए। शुरूआती जांच में पुलिस ने कार से जा रहे 6 संदिग्धों को साढे सात लाख रुपए के साथ गिरफ्तार कर लिया। तत्पश्चात सीबीआई की तरह गैंग में शामिल डॉ. कृष्ण लाल पटेल, स्कूल संचालक ललित त्रिपाठी और लेखपाल संतोष बिंदु को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो 22 लाख से अधिक कैश बरामद कर लिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static