धर्मांतरण मामले ने पकड़ा तूल, जांच के लिए SP रेलवे लखनऊ पहुंचे झांसी

3/25/2021 5:04:55 PM

झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी रेलवे स्टेशन पर धर्मपरिवर्तन की सूचना पर दो नन और दो युवतियों को ट्रेन से उतारे जाने के मामले के तूल पकड़ने के बाद रेलवे महानिरीक्षक (IG) लखनऊ ने पुलिस अधीक्षक (SP) रेलवे लखनऊ को गुरूवार को मामले की जांच के लिए यहां भेजा। रेलवे आईजी के आदेश पर एसपी रेलवे सौमित्र यादव यहां पहुंच गए और उन्होंने मामले की बारीकी से जांच भी शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार आज शाम तक इस मामले में किसी कड़ी कारर्वाई के आदेश में आ सकते हैं।

गौरतलब है कि 19 मार्च की रात उत्कल एक्सप्रेस से दिल्ली से उड़ीसा के राउरकेला जा रही दो नन और दो युवतियों को झांसी रेलवे स्टेशन पर उतार लिया गया था। एक हिंदूवादी संगठन ने रेलवे पुलिस को सूचना दी थी कि दो युवतियों को जबरन धर्म परिवर्तन के लिए ले जाया जा रहा है। जानकारी मिलने के बाद रेलवे पुलिस और संबंधित अधिकारियों ने चारों महिलाओं को ट्रेन से उतार लिया और लगभग तीन से चार घंटे की पूछताछ और कागजातों की चेकिंग के बाद धर्म परिवर्तन जैसी कोई बात सामने नहीं आने पर उन्हें छोड़ दिया गया।

आरोप है कि जब चारों महिलाओं की जांच या ट्रेन से उतराने के समय कोई महिला पुलिसकर्मी मौके पर नहीं थी। महिलाओं ने इस पूरे मामले की जानकारी केरल पहुंचने पर राज्य सरकार और कैथोलिक बिशप काउंसिल को दी। इस मामले को संज्ञान में लेकर केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर पूरे मामले से अवगत कराया और जांच का आग्रह किया। दूसरी ओर बिशप काउंसिल ने भी पीएमओ को पत्र लिखकर मामले पर कड़ी नाराजगी दिखायी। इसके बाद पश्चिम बंगाल की एक चुनावी रैली में गृहमंत्री ने इस मामले को उठाया और केरल की जनता को निष्पक्ष जांच तथा उचित कारर्वाई का आश्वासन दिलाया। मामले के इस तरह तूल पकड़ने के बाद रेलवे प्रशासन हरकत में आया और आईजी रेलवे लखनऊ ने आनन फानन में एसपी रेलवे को यहां जांच के लिए भेजा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Recommended News

static