वन स्टेशन-वन प्रोडक्ट योजना: रेलवे ने आगरा कैंट स्टेशन पर लगवाए हस्तशिल्पियों के स्टाल्स, खरीद सकेंगे नन्हा ताज

punjabkesari.in Friday, Mar 25, 2022 - 03:37 PM (IST)

आगरा: केंद्र सरकार की स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की योजना के अंतर्गत यहां आगरा छावनी रेलवे स्टेशन पर मार्बल हैंडीक्राफ्ट उत्पादों के तीन स्टाल्स शुरू कर दिये गये हैं। ‘एक जिला एक उत्पाद' योजना की तर्ज पर रेल मंत्रालय ने भी ‘एक स्टेशन एक उत्पाद' योजना शुरू की है। प्रथम चरण में 19 स्टेशनों को इसमें शामिल किया गया है। यूपी में आगरा कैंट समेत चार स्टेशनों का चयन किया गया है। आगरा को हस्तशिल्प मार्बल बिक्री के लिए चुना गया। शहर में बडे़ स्तर पर संगमरमर के ताजमहल और अन्य खूबसूरत आइटम बनाए जाते हैं। देशी-विदेशी पर्यटक संगमरमर को पसंद भी करते हैं।       

आगरा रेल मंडल की जनसम्पकर् अधिकारी प्रशस्ति श्रीवास्तव ने बताया कि आज से शुरू हुई यह योजना 15 दिन चलेगी। रेलवे ने योजना में शामिल होने के लिए शिल्पकारों और व्यापारियों को आमंत्रित किया था। रजिस्ट्रेशन फीस 500 रुपये रखी गई। तय किया गया कि जितने भी आवेदन आएंगे, उसमें तीन व्यापारियों को चुनाव लॉटरी प्रक्रिया द्वारा किया जाएगा। चयनित लोगों को स्टेशन पर अपने उत्पाद रखने के लिए स्टॉल की जगह दी जाएगी। उनके अधिकृत वेंडर को ट्रेन में उत्पाद के प्रचार-प्रसार के लिए अधिकृत भी किया जाएगा। आगरा में स्टॉल के लिए पांच हस्तशिल्पियों समेत नौ लोगों ने आवेदन किया था, जिनमें तीन हस्तशिल्पियों सुनील उप्रेती, सुशील कुमार व नईमुद्दीन का चयन कर उन्हें स्टॉल्स उपलब्ध कराए गए।      

गौरतलब है कि इस बार रेल बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने और उनका प्रचार-प्रसार करने के लिए वन स्टेशन वन प्रोडक्ट योजना की घोषणा की थी। योजना के तहत रेलवे अपने विशाल नेटवकर् का लाभ शिल्पकारों को देना चाहता है। रेलवे स्टेशनों पर देश के अलग-अलग हिस्सों से यात्री आते हैं। शिल्पकारों को रेलवे के द्वारा एक बड़ा प्लेटफॉर्म और नेटवर्क मिलेगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static