झांसी में जन विश्वास यात्रा को  राजनाथ सिंह ने दिखाई हरी झंडी, देश को आजाद कराने वाले शहीदों को किया नमन

punjabkesari.in Sunday, Dec 19, 2021 - 03:30 PM (IST)

झांसी: उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव की तारीख का भले ही ऐलान नहीं हुआ है उसके बावजूद भी प्रदेश चुनाव प्रचार में सभी राजनीतिक पार्टियां जुटी है। इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी प्रदेश के 6 जिलों में‘जन विश्वास यात्रा’चला रही है। झांसी जिले से राजनाथ सिंह  ने हरी झंडी दिखा कर यात्रा की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने भारत माता के अमर सपूतों, रामप्रसाद बिस्मिल, अशफ़ाक उल्ला खां और ठाकुर रोशन सिंह के बलिदान को स्मरण एवं नमन किया। उन्होंने कहा कि कम उम्र में ही देश को आजाद कराने के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीरों को आने वाली पीढ़ियां भी उनके बलिदान को हमेशा याद रखेंगी।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, ये सिर्फ भाजपा के नेतृत्व में ही संभव अन्य पार्टियां में ऐसा कुछ भी असंभव नहीं है।वीरांगना नगरी झांसी में एक बार फिर लोगों का विश्वास जीतने और विपक्षी दलों को भगवा दमखम दिखाने सड़कों पर उतरेगी।  यहां राजकीय पॉलीटेक्निक मैदान से जन विश्ववास यात्रा का शंभारंभ किया जायेगा और इसके लिए पार्टी व्यापक रूप से तैयारियां की हैं । पिछले विधानसभा चुनाव में बुंदेलखंड की सभी 19 सीटों पर भगवा परचम लहराया था और इस बार फिर वहीं करिश्मा दिखाने की आस में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ,केंद्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और उपमुख्यमंत्री डॉ़ दिनेश शर्मा आज वीरांगना नगरी में ताल ठोकते नजर आयेंगे। जहां चुनावी जनसभाओं में एक ओर भाजपा ,प्रदेश में उसकी सरकार आने के बाद तेजी से आगे बढ़ी विकास यात्रा को प्रमुखता से जनता के सामने रख रही हैं तो वहीं दूसरी ओर विपक्ष महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दों को प्रमुखता से उछालकर पिछड़े और दलित वर्ग में अपनी पैठ बनाकर चुनावी की वैतरणी पार करने का इच्छुक नजर आ रहा है।

 प्रदेश में जातिगत समीकरणों से बचने की चाहे कितनी ही वकालत क्यों न की जाए लेकिन चुनावों के समय सभी दल , टिकटों के बंटवारे और वोट पाने की चाहत में जातिगत समीकरणों को साधने में पूरी ताकत लगा देते हैं। इसी क्रम में भाजपा ने भी अन्य वर्गों के साथ विशेष रूप से पिछड़े और दलित वर्ग को साधने की मंशा से जन विश्वास यात्रा की डोर पिछड़े और दलित वर्ग के हाथ में सौंपी है । बुंदेलखंड की यात्रा की जिम्मेदारी स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री बाबूराम निषाद को सौंपी गयी है और फायरब्रांड दलित नेता प्रियंका सिंह रावत को प्रदेश का महामंत्री और बुंदेलखंड प्रभारी बनाया गया है। इतना ही नहीं प्रदेश के अलग अलग क्षेत्रों मे निकाली जा रही इन जन विश्वास यात्राओं की डोर भााजपा के तेजतररर और पिछड़ा वर्ग के प्रभावी नेता विद्यासागर सोनकर को सौंपी गयी है।  झांसी सदर विधान सभा के पॉलीटेक्निक मैदान से शुरू होने जा रही बुंदेलखंड विश्ववास यात्रा 14 जिलों से होकर गुजरेगी।

पॉलीटेक्निक मैदान के बाद यह यात्रा बीकेडी और महानगर के चचिर्त चौराहे ईलाइट होते हुए जेल चौराहा पहुंचेगी और यहां से बबीना होते हुए ललितपुर के लिए निकल जायेगी। इसी तरह यात्रा बुंदेलखंड सहित 14 जिलों में घूमेगी। इस यात्रा का विश्राम 14वें दिन कानपुर के बिठूर कें ब्रह्मा तट पर होगा। बुंदेलखंड यात्रा के 15 दिन के कार्यक्रम में चार विशाल जनसभाएं बांदा उरई , इटावा और फर्रुखाबाद में तथा 33 सभाओं सहित कानपुर में एक रोड शो का भी आयोजन किया जायेगा।  इस जनयात्रा के जरिए जहां एक ओर भाजपा अपने मतदाताओं का विश्वास जीतने की कवायद मे लगी है तो दूसरी ओर टिकट पाने की चाह में स्थानीय नेता यहां आ रहे पाटर्ी के बड़े और कद्दावर नेताओं के सामने अपनी राजनीति चमकाने में कोशिशों में लगे हैं। यात्रा के बहाने टिकट के दावेदारों ने पूरे महानगर को होडिर्ंग्स से पाट दिया है। पॉलीटेक्निक ग्रांउड से लेकर यात्रा का पूरा मार्ग होडिर्ंगस से पटा नजर आ रहा है। हर कोई रक्षा मंत्री के सामने खुद को प्रबल दावेदार दिखाने के लिए हर संभव कोशिश में लगा है। भाजपा जब टिकट को लेकर अपने पत्ते खोलेगी तो यह देखना रोचक होगा कि इन नेताओं को शहर होर्डिंगस से इस तरह पीटने का कितना फायदा मिला और चुनाव परिणाम आने के बाद यह पता चलेगा कि भाजपा पर जनता ने कितना भरोसा दिखाया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static