अखिलेश पर भड़के मौलाना तौकीर रजा, कहा- BJP से ज्यादा नुकसानदेह है सपा, कांग्रेस का साथ दें मुसलमान

punjabkesari.in Monday, Jan 17, 2022 - 04:51 PM (IST)

लखनऊ: इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल प्रमुख मौलाना तौकीर रजा ने समाजवादी पार्टी (सपा) को मुसलमानो के लिये भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से भी ज्यादा नुकसानदेह बताते हुए कहा कि सही मायनों में धर्मनिरपेक्ष दल की भूमिका निभा रही कांग्रेस के हाथों को विधानसभा चुनाव में मजबूत करने की जरूरत है।   कांग्रेस के प्रदेश दफ्तर में आयोजित सम्मेलन में कांग्रेस को समर्थन देते हुए मौलाना ने कहा कि अखिलेश यादव मुसलमानों के लिए भाजपा से भी खराब हैं। उनके हाथ गैर जिम्मेदार है जिन पर सूबे की बागडोर सौंपना मुनासिब नहीं होगा। प्रदेश को यादववाद और जाटववाद की बजाय मानववाद की ज्यादा जरूरत है।

उन्होने कहा ‘‘ अखिलेश यादव जिस अहंकार से ग्रस्त हैं और मुस्लिम लीडरशिप को किनारे लगाकर बीजेपी से हाथ मिलाकर सपा का झण्डा बुलन्द करने चले हैं, उनका सपना कभी साकार नहीं होगा। पूर्व में भी इन्ही की सरकारों के समय मुस्लिम समाज ने स्वयं को सबसे ज्यादा ठगा हुआ समझा है और यह हमारे ही दम पर सरकारों में बने रहे है लेकिन अब जनता उनको पहचान चुकी है।''  मौलाना ने कहा ‘‘ कुछ लोगों की गलतफहमी से हम लोग कांग्रेस से दूर हुए थे। हमने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को सच्चा सेक्युलरिस्ट पाया है। कांग्रेस के हाथों को मजबूत करने का काम करना है। देश प्रदेश की भलाई के लिए कांग्रेस का आना जरूरी है। भाजपा सरकार की मनहूसियत से बचाने के लिये कांग्रेस को लाना ही होगा। यूपी में प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस विजय की ओर अग्रसर है और मैं पूरे भारत में जहाँ भी आवश्यकता होगी कांग्रेस के समर्थन में प्रचार- प्रसार करूँगा और अल्पसंख्यकों, दलितों और पिछड़ों की आवाज को बुलंद करता रहूँगा।'

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने में यह समर्थन महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। यूपी की जनता को धोखा देने वाले, भय, भूख, भष्टाचार फैलाने वाले विकास की फर्जी बात करने वाले मुख्यमंत्री कभी बेरोजगारी, महिला उत्पीड़न, महंगाई, जैसे मुद्दों की बात नहीं कर रहें हैं। अखिलेश एवं योगी मूल मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिए नूरा कुश्ती खेल रहें हैं।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अखिलेश और योगी, दोनों के कार्यकाल ने सभी वर्गों को केवल निराशा दी है। इवेंट मैनेजमेंट की राजनीति चल रही है। पिछले एक दशक में यहां सपा और भाजपा ने शासन किया है। इस नाते दोनो को अपना रिपोटर् काडर् पेश करना चाहिये। प्रदेश में कानून व्यवस्था,महिला सुरक्षा और भ्रष्टाचार एवं बेरोजगारी समेत तमाम ज्वलंत मुद्दे है मगर चुनाव को जानबूझ कर जाति और धर्म की ओर मोड़ा जा रहा है जो गलत है। अब प्रदेश में मुद्दों की राजनीति होगी, जाति और धर्म की नहीं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static