सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का 49वां जन्मदिनः पढ़ें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 12:49 PM (IST)

लखनऊः सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का आज जन्मदिन है। इसी के साथ वह 49 साल के हो गए हैं। अखिलेश को यूं तो हम सभी जानते हैं पर उनसे जुड़़ी कई खास बातें हैं जो उनके जन्मदिन पर हम आपको बताने जा रहे हैं।

*अखिलेश अपने शुरुआती बचपन के दिनों में, वे यूटा के इटवा के सेंट मैरी स्कूल में पढ़ते थे। उनके चाचा शिवपाल उन दिनों उनके साथ रहते थे और उनकी देखभाल करते थे।
PunjabKesari
*चाचा शिवपाल सिंह स्कूल के दिनों में अखिलेश के गार्जियन थे। यहां तक कि स्कूल से जुड़ी सारी औपचारिक्ताएं भी शिवपाल ही पूरी करते थे क्योंकि मुलायम उस वक्त अपनी राजनीति में व्यस्त थे। एक दौर ऐसा भी था जब मुलायम सिंह यादव की जान को खतरा होने की वजह से अखिलेश का स्कूल जाना बंद हो गया था। तब अखिलेश को उनकी चाची सरला घर पर ट्यूशन देती थीं।
PunjabKesari
*ऑस्ट्रेलिया में अखिलेश की पढ़ाई के दौरान मुलायम सिंह यादव भारत के रक्षा मंत्री थे। उस समय, अमिताभ बच्चन एक कार्यक्रम के लिए ऑस्ट्रेलिया गए थे। अखिलेश यादव अमिताभ बच्चन से मिलने गए और उनके साथ अगले दिन के अखबार में उनकी फोटो छपी। जब अखिलेश के मकान मालिक ने उस फोटो को देखा, तो मकान मालिक को यकीन ही नहीं हुआ कि वह भारत के रक्षा मंत्री के बेटे हैं और अमिताभ बच्चन उनके पिता के दोस्त थे।
PunjabKesari
*1982 में जब अखिलेश यादव ग्वालियर के सिंधिया स्कूल में एडमिशन लेने गए, तो उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया। बाद में उन्हें धौलपुर मिलिट्री स्कूल में भर्ती कराया गया।
अखिलेश यादव ने मैसूर से इंजीनियरिंग की। वह रोजाना पास के एक चाय स्टाल पर चाय पीने जाते थे। जहां चाय वाले चंदू ने उन्हें कन्नड़ सिखाया था। अखिलेश ने उनकी बहुत प्रशंसा की और अपने कॉलेज में कन्नड़ में एक छोटा सा भाषण दिया था।
PunjabKesari
*अखिलेश और डिंपल यादव की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के जरिए लखनऊ में हुई थी। डिंपल लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थीं। 4 साल की डेटिंग के बाद 1999 में दोनों ने शादी कर ली।
PunjabKesari
*अखिलेश और डिंपल यादव की 2 बेटियां टीना यादव, अदिति यादव और एक बेटा अर्जुन यादव हैं।
PunjabKesari
*अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इससे पूर्व वे लगातार 3 बार सांसद भी रह चुके हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के पुत्र अखिलेश ने 2012 के उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में अपनी पार्टी का नेतृत्व किया। उनकी पार्टी को राज्य में स्पष्ट बहुमत मिलने के बाद, 15 मार्च 2012 को उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्य मन्त्री पद की शपथ ग्रहण की।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static