7 जन्मों तक साथ देने वाली दुल्हन ने सात फेरों से चंद समय पहले ही छोड़ दिया जिंदगी का साथ, पसरा मातम

punjabkesari.in Thursday, May 27, 2021 - 02:57 PM (IST)

इटावाः शादी जिंदगी का वह हसीन पल होता है जो कि केवल दो लोग नहीं बल्कि दो परिवारों को जोड़ता है। शादी के कार्यक्रमों  के बीच मानों खुशियों की सौगात आ जाती है। मगर उत्तर प्रदेश के इटावा से दर्दनाक व अकल्पनीय मामला सामने आया है। जहां मंडप समारोह में ही सात फेरो से पहले दूल्हन की हदयघात से दर्दनाक मौत ने हर किसी को सन्न कर दिया । दुल्हन की मौत के कुछ ही देर में दोनों पक्षों में सहमति बनी कि दुल्हन की छोटी बहन निशा के साथ जल्दी से शादी की रस्मों को करा दिया जाए । सहमति के बाद मृत दुल्हन की बहन दुल्हन बनी ।

बारात, जयमाला, दावत, गोद भराई, मांग भराई और मौत...
बता दें कि मामला जिले के भर्थना इलाके की है। जहां बहन जो कुछ देर पहले तक दूल्हे को जीजा कह रही थी उसी को आनन-फानन में जीजा की पत्नी बनना पड़ा । दरअसल वैवाहिक कार्यक्रम विधिवत हिन्दू रीति रिवाज के साथ सम्पन्न हो रहा था । बारात स्वागत, बारात भ्रमण, जयमाला, दावत, गोद भराई, मॉग भराई सहित कई रस्में हो चुकी थी । सात फेरों से पहले अचानक दुल्हन की तबियत बिगड़ी और कुछ ही मिनट में उसकी मौत हो गई । बरात आई खूब स्वागत सत्कार हुआ । शादी की रस्में हुईं। दूल्हा दुल्हन ने एक दूसरे को स्टेज पर जयमाला पहनाई । दुल्हन की मांग भरी जा चुकी थी । रात के करीब ढाई बजे मंडप में सात फेरों की तैयारी चल रही थी । दुल्हन मंडप में थी । तभी अचानक दुल्हन बेहोश हुई और मंडप में ही तोड़ दिया । बेहद गम के बीच मृत दुल्हन की छोटी बहन को दूल्हे के साथ विदा कर दिया गया ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static