महंगाई ने तोड़ी जनता की कमर! फिर रुलाने लगा प्याज, टमाटर हुआ और भी 'लाल'

10/16/2021 2:11:09 PM

लखनऊ: सब्जियों के दामों में बेतहाशा इजाफा होने से रसोई घर का बजट गड़बड़ा गया है। थाली से सब्जियां अब गायब हो रही है। आलम ये है कि मात्र हफ्ते भर में सब्जियां दोगुने दामों में बिकने लगी हैं। जो टमाटर 10 रुपए किलो था वो अब 80 रुपए से अधिक दामों में बिक रहा है। वहीं प्याज 60 रुपए किलो तक पहुंच गई है। 
PunjabKesari
वहीं सब्जी कारोबारियों को कहना है कि अभी हफ्ते भर कीमत इन्हीं दरों के इर्द-गिर्द रहने वाली है। चूंकि टमाटर और प्याज बैंगलुरू एवं नासिक की मंडी से आता है। वहां से ही माल तेज आ रहा है। ऐसे में रेट बढ़ने स्वाभाविक हैं। लोकल मंडी थम गई है। इससे माल की कमी है। आगामी दिनों में पड़ने वाले त्योहारों को देखते हुए खपत बढ़ने के आसार हैं। उन्होंने कहा कि अगर समय से प्याज की पूर्ति नहीं हुई तो पिछले साल की तरह फिर से प्याज लोगों को रुलाएगा। सब्जी महंगी होने की वजह डीजल-पेट्रोल के तेजी से बढ़ते हुए दामों को बताया जा रहा है। ईंधन के महंगा होने से ट्रांसपोटेशन काफी महंगा हो गया है। जिसकी वजह से सब्जियां महंगी बिक रही है। 
PunjabKesari
सब्जियों के दाम हफ्तेभर पहले रुपये प्रति किलो में

 सब्जी -  पहले  -  अब

 टमाटर- 70 से 75-80

प्याज -50 से 55 -60

 सोया मेथी 140 -150

आलू पुराना-25 से 30 -30

आलू नया -35 से 40 -40

पालक - 40 - 60

लोबिया -  40 - 60

बैंगन - 40 - 50

 शिमला मिर्च -120 -120

धनिया-100 - 120

सब्जियों की बढ़ती हुई महंगाई को लेकर व्यापारी समिति दुबग्गा शाहनवाज हुसैन ने बताया  टमाटर और प्याज में अभी दो-चार दिन में राहत मिलने के आसार नहीं हैं। कल मंडी से आमद खत्म हो चुकी है  ऐसे में बाहर से आने वाला माल महंगा है। आपूर्ति कम है। डिमांड ज्यादा है। आपूर्ति सामान्य होने में थोड़ा वक्त है। वहीं  दुकानदार कुलदीप अवस्थी ने बताया कि आज भी मंडी सामान्य नहीं हुई है। फुटकर बाजार में टमाटर और प्याज की कीमतें सबसे अधिक हैं। सोया-मेथी, आलू समेत सभी सब्जियों की कीमतों में तेजी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static