मंत्री गिरीश चंद ने बोला अखिलेश पर हमला, कहा- जो बुजुर्गों की बात नहीं मानता उनका हश्र यही होता है

punjabkesari.in Monday, Jul 04, 2022 - 05:14 PM (IST)

गाजीपुरः समाजवादी पार्टी के द्वारा अपने सभी फ्रंटल को भंग कर दिए जाने पर मंत्री गिरीश चंद यादव ने अखिलेश यादव पर तीखा तंज कसा है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के पास और कुछ बचा ही नहीं है तो इसके अलावा और कर ही क्या सकते हैं। कन्नौज और बदायूं साफ हो गया, बचा हुआ आजमगढ़ था वह भी साफ हो गया इसलिए अब उनके पास फ्रंटल को भंग करने और बहाल करने के अलावा कोई कार्य नहीं बचा है। 2017, 2019 और 2022  में उन्हें जनता ने नकार दिया, अब उपचुनाव में भी नकार दिया है। उनका जनता से अब कोई लेना-देना नहीं रहा है क्योंकि अगर वह जनता के बीच में जाते तो उन्हें जनता नकारती नहीं।

उत्तर प्रदेश की जनता को योगी-मोदी पर विश्वास
गिरीश चंद यादव ने आगे कहा कि उनका अपना क्षेत्र कन्नौज और बदायूं जिसे उनका किला माना जाता था जनता ने वहां से भी उन्हें नकार दिया है। अब उत्तर प्रदेश की जनता को योगी और मोदी पर विश्वास है। हमारी सरकार जन समस्याओं के निस्तारण पर बहुत तेजी से कार्य कर रही है। इसीलिए हमलोगों ने एकजुट होकर 2022 में चुनाव जीता है और अब उपचुनाव में भी दोनों सीटों पर जीत हासिल की है।

जो बड़े बुजुर्गों की बात नहीं मानता उनका हश्र यही होता है-गिरीश
आजमगढ़ उपचुनाव में जीते निरहुआ के भाई विजय लाल यादव जो समाजवादी पार्टी के सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष भी हैं उन्हें पार्टी के जिला अध्यक्ष के द्वारा पार्टी से निष्कासित करने का पत्र प्रदेश अध्यक्ष को भेजा गया है। इस पर गिरीश चंद यादव ने कहा कि मुझे जानकारी हुई कि दिनेश लाल निरहुआ अपने गृह नगर आए थे और वहां पर एक फोटो वायरल हुई जिसमें विजय लाल यादव भी दिख रहे थे। गिरीश ने तंज कसते हुए कहा कि अब उनके (अखिलेश) पास बस यही काम बचा है लोगों को निष्कासित करना। जो बड़े बुजुर्गों की बात नहीं मानता तो ऐसे लोगों का हश्र यही होता है। उनको इसी तरह का परिणाम भुगतने होते हैं, वही परिणाम हुआ भुगत रहे हैं।

 



 

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ajay kumar

Related News

Recommended News

static