हाईटेक हुईं UP की जेलें, अब स्मार्ट PCO से बंदी अपने परिजनों से कर सकेंगे मन की बात

punjabkesari.in Tuesday, Aug 31, 2021 - 08:19 PM (IST)

फर्रुखाबाद:  (दिलीप कटियार) उत्तर प्रदेश की जेल अब हाईटेक हो गई है। जेल में बंदियों से मिलने के लिए पर्ची लगाने, कारागार की सुरक्षा से लेकर परिजनों से बात करना सबकी हाईटेक व्यवस्था की गयी है। इसी कड़ी में फर्रुखाबाद की केंद्रीय कारागार फतेहगढ़ में बंदियों के लिए अब हाईटेक व्यवस्था की गयी है| अब बंदी अपने मन की बात परिजनों से बेहिचक कर सकेगें|  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अचल प्रताप सिंह व उनकी धर्मपत्नी विनीता सिंह नें केन्द्रीय कारागार में स्मार्ट पीसीओ का शुभारंभ किया।

इस बाबत सेन्ट्रल जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक प्रमोद शुक्ला नें विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव को जानकारी देते हुए बताया कि बंदियों को एक स्मार्ट कार्ड जारी किया गया है| कार्ड में ही बंदी के रूपये डालें जायेंगे| बंदी एक रूपये प्रति मिनट कुल 5 मिनट तक अपने परिजनों से बात कर सकेंगे| बंदियों को स्माट कार्ड दे दिए गए हैं। कोरोना काल के चलते जेल के अंदर लगे पीसीओ से बात कराने में पीसीओ के अंदर बहुत भीड़ रहती थी। इस भीड़ को कम करने के लिए एक अच्छा कदम है। जिससे केंद्रीय कारागार के सभी सर्किल में अलग-अलग स्मार्ट पीसीओ की 20 मशीनें लगा दी गई है।

उन्होंने आगे बताया कि 24 घंटे में केवल 5 मिनट ही बात कर सकते हैं। स्मार्ट कार्ड में जो दो नंबर सेव किए गए हैं उनका पुलिस वेरिफिकेशन कराकर ही स्मार्टकार्ड में सेव किया गया है। केवल बंदी द्वारा दिये गये दो नम्बर फीड रहेंगे जो कार्ड लगाते ही सामने नजर आयेंगे|  रिसीवर में अलग से नंबर डायल करनें की व्यवस्था नहीं है | बंदी को रिसीवर में लगे एक और दो नम्बर में से जिस बटन को दबाना होगा और वही नम्बर डायल हो जायेगा| जेल अधीक्षक नें बताया कि कुल 20 रिसीवर हर सर्किल में यह व्यवस्था की गयी है। इसके साथ ही बंदी जो बात करेंगे वह रिकार्ड भी की जायेगी। वहीं केंद्रीय कारागार में स्मार्ट पीसीओ का शुभारम्भ होनें से बंदियों में खुशी की लहर दौड़ गयी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव के सामने ही बंदियों ने अपने घर फोन किया।

 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static