UP: राह चलते सीओ ने पंक्चर बनाने वाली युवती से बंधवाई राखी, आखों से छलक पड़े आंसू

punjabkesari.in Saturday, Aug 21, 2021 - 03:11 PM (IST)

इटावा: एक कोख से भाई-बहन का जन्म लेना ही रिश्ता नहीं कहलाता, कुछ रिश्ते धागों से भी बनते हैं। जिसका जीता जागता उदाहरण इटावा पुलिस के सीओ और उनके सहयोगियों ने पेश किया है। बता दें कि सीओ चंद्रपाल सिंह अपने सर्किल के बकेवर थाने से होकर गुजर रहे थे। इसी बीच उनकी नजर हाइवे पर पंक्चर बनाती लड़की पर पड़ी। फिर क्या था वो अपनी गाड़ी रोके और उतर पड़े। जब उन्होंने युवती से पूछा कि बेटा तुमने त्‍योहार मनाया, युवती रो पड़ी जिस पर सीओ समझ गए कि इसका कोई भाई नहीं है। इसके बाद सीओ ने उस युवती से राखी बंधवाई और उसकी रक्षा का उसे भरोसा दिलाया। इतना ही लड़की के राखी बांधते ही सीओ के आखों में खुशी के आंसू भर आए।

PunjabKesari
कच्चे धागे ने जोड़ा राह चलते भाई-बहन का रिश्ता
एक गरीब की बेटी से पुलिस विभाग के सीओ ने राह चलते रक्षासूत्र बंधवाकर उसे अपना प्यार दुलार व आशीर्वाद देकर उसकी रक्षा का वादा किया। सीओ को देखकर उनके ड्राइवर जसवंत सिंह और गनर पंकज कुमार ने भी अपने अपने हाथ बढ़ाए और उस बिन भाई की बहन से राखी बंधवाकर उसे उसकी रक्षा का भरोसा और आशीर्वाद दिया।

PunjabKesari
पुलिस कर्मियों की हो रही जमकर सरहाना
राह चलते इस धागों के पर्व पर पुलिस की पहल की सोशल मीडिया पर जैसे ही सूचना लोगों को मिली लोग इस पहल पर पुलिस की जमकर सराहना कर रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, सीओ साहब की जितनी भी तारीफ की जाय, कम है। निःशब्द हो गया मैं उनकी इस भावनात्मक पहल को देखकर, काश सभी पुलिस अधिकारी व सिपाही ऐसी ही सकारात्मक सोच रखें तो गरीब लड़कियों के ह्रदय व नजरों में उनका भाई जैसा सम्मान हमेशा बना रहेगा।

PunjabKesari
वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा, हमारे देश में आमतौर पर पुलिस की छवि नकारात्मक है परंतु ऐसा नहीं है। इन्हीं हृदयहीन लोगों में देवता स्वरूप पुलिस वाले भी हैं, बस हमें उन्हें अधिक सम्मान देने की जरूरत है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static