World Heart Day: दिल को रखें स्वस्थ तो जीवन रहेगा खुशहाल, अपनाएं ये घरेलू उपाय

9/29/2020 2:05:07 PM

यूपी डेस्कः दिल स्वस्थ तो जीवन खुश...ये पुराना वाक्य है। दरअसल  विश्व हृदय महासंघ हर साल 29 सितंबर को विश्व हृदय दिवस, एक अंतरराष्ट्रीय अभियान का आयोजन करता है। ताकि उनकी रोकथाम और उनके वैश्विक प्रभाव सहित हृदय रोगों के बारे में लोगों में जागरुकता बढ़ाया जा सके इसे लेकर लोगों को जागरूक किया जा सके।

बता दें कि गलत दिनचर्या शरीर में तमाम तरीके के तनाव, गलत खान-पान, पर्यावरण प्रदूषण और अन्य कारणों के चलते हृदय की समस्याएं बच्चों से लेकर बुजर्गों तक में होनी अब आम बात हो गई है। दिल की बीमारियों को कार्डियोवेस्कुलर रोग के नाम से भी जाना जाता है, ये बीमारियां आज दुनिया में मौत की सबसे बड़ी वजह बन चुकी है।

हृदय रोग अवरुद्ध धमनियों की पट्टिका, दिल का दौरा, सीने में दर्द, स्ट्रोक, कार्डियोवैस्कुलर रोग सभी गैर-संचारी रोगों के लिए जिम्मेदार हैं। इसके लिए धूम्रपान, शारीरिक रूप से निष्क्रिय होना, अधिक वजन, खराब खाने की आदतें और बहुत अधिक शराब पीना आदि भी ह्रदय रोग का बहुत बड़ा कारण है।

सूर्योदय से पहले उठें: आयुर्वेद में कहा गया है कि सूर्योदय से पहले उठने वाले को हृदय रोग नहीं होता। सुबह जब तक लालिमा होती है तब तक सूर्य की किरणें तीखी नहीं होती और ये हृदय के लिए बेहद लाभकारी होती हैं।

हल्दी का सेवन:  दिल की सेहत के लिए प्रतिदिन हल्दी का सेवन बहुत जरूरी है। आयुर्वेद में कहा गया है कि लगभग 500 मिलीग्राम हल्दी रोज खाना चाहिए। हल्दी हमारे शरीर में खून का थक्का नहीं बनने देती क्योंकि यह खून को पतला करने का काम करती है। हल्दी में हल और दी है यानी समाधान देने वाली।

हरड़ का नियमित प्रयोग: हरड़ को आयुर्वेद में पत्थ्य कहा जाता है। इसे मां के समान बताया गया है जो हमारे शरीर की तमाम गड़बड़ियों को ठीक करती है। मां की तरह ही यह शरीर की सारी गंदगी साफ कर देती है।

गाय का दूध है अमृत: गाय का दूध पीने वाले को हृदय रोग नहीं होता। गाय के दूध में कैलशियम, मैगनिशियम और गोल्ड जैसे बहुत सारे सूक्ष्म पोषक पदार्थ होते हैं। इसी कारण गाय का दूध हल्का पीला होता है। इसके साथ ही फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाएं, व्यायाम करें, वजन घटाएं, पानी अधिक पीएं व हसने का व्यायाम जरूर करें।


Moulshree Tripathi

Related News