कालाबाजारी को लेकर सख्त योगी सरकार, रेमडेसिविर के तीन जमाखोरों के खिलाफ NSA के तहत करेगी कार्रवाही

punjabkesari.in Sunday, Apr 18, 2021 - 02:48 PM (IST)

कानपुरः उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कोरोना नियंत्रण को लेकर सख्ती के साथ मैदान में डटी हुई है। ऐसे में मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि इसे लेकर किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसी क्रम में 265 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ पकड़े गए तीन व्यक्तियों के खिलाफ सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाही का फैसला लिया है।

गैरकानूनी गतिविधि बर्दाश्त नहीं
इस बाबत पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने कहा कि योगी सरकार ने यूपी पुलिस को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है जो कोविड-19 दवाओं की कालाबाजारी करते हैं। लिहाजा संकट के इस दौर में कोई भी गैरकानूनी गतिविधि बर्दाश्त नहीं की जाएगी और ऐसे लोगों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी।

265 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ तीन लोगों को STF ने किया गिरफ्तार
गौरतलब है कि कानपुर की स्पेशल टास्क फोर्स बीते गुरुवार को 265 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया था, जो इसकी कालाबाजारी करने में शामिल थे। कोरोना संकट के दौर में भी लोगों की परेशानियों को इग्नोर कर कुछ लोग अवैध धन उगाही करने में व्यस्त हैं। ऐसे कुछ लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन ऊंचे दामों में बेच रहे हैं।

कोरोना उपचार के लिए प्रमुख दवा है रामडेसिविर
बता दें कि रामडेसिविर एक प्रमुख दवा है, जिसका उपयोग कोरोना वायरस के उपचार में किया जाता है। कमी का फायदा उठाकर कुछ लोग शीशियों को ऊंचे दामों पर बेच रहे हैं। जिसके लिए नौबस्ता के पशुपति नगर के एक प्रशांत शुक्ला और बख्तौरी पुरवा निवासी मोहन सोनी को पहले गिरफ्तार किया गया था।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static