व्यापारी से 50 लाख की रंगदारी मांगने वाले 3 बदमाश गिरफ्तार, पुलिस मुठभेड़ में 1 घायल

punjabkesari.in Wednesday, Dec 07, 2022 - 12:19 PM (IST)

गाज़ियाबाद (संजय मित्तल) : उत्तर प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश का असर अब साफ दिखने लगा है। यूपी पुलिस ने ऑपरेशन लंगड़ा चला कर अपराधियों के हौसले पस्त कर रही है। ताजा मामला गाजियाबाद जिले का है। जहां बीते 2 दिसंबर को कविनगर थाना क्षेत्र के राजनगर इलाके में रहने वाले उद्यमी आशीष गर्ग और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देकर 50 लाख रुपए की रंगदारी मांगने वाले बदमाशों को पुलिस ने मंगलवार की रात मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में 1 बदमाश के घायल होने के बाद उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।  

PunjabKesari

रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी
2 दिसंबर को कविनगर थाना क्षेत्र के राजनगर इलाके में रहने वाले उद्यमी आशीष गर्ग और उसके परिवार को फोन करके 50 लाख रुपए रंगदारी मांगी गई थी। जिसे न देने पर परिवार सहित जान से मारने की धमकी भी दी गई थी। जिसके बाद व्यापारी ने कविनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके उपरांत पुलिस उपायुक्त नगर निपुण अग्रवाल के नेतृत्व में कई टीमों का गठन किया गया था। इसी दौरान गठित टीमों ने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस और मुखबिर की सूचना के आधार पर बदमाशों की शिनाख्त कर ली।

चेकिंग के दौरान हुआ मुठभेड़
बीती रात मुखर्जी पार्क के पास पुलिस चेकिंग कर रही थी। तभी बदमाशों का आता देख उन्हें रोकने का प्रयास किया। जिस पर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर आत्मरक्षा में बदमाशों पर फायरिंग की। जिसमें बदमाश गोलू उर्फ गुलवा पैर में गोली लगने से घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया हैं। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने घायल बदमाश के दोनों साथियों को भी आवश्यक बल का प्रयोग कर गिरफ्तार कर लिया हैं। पुलिस को पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम दीपक उर्फ गोलू पुत्र बलराम, दूसरे ने अभिषेक कुमार उर्फ चिंटू पुत्र मंगल सिंह निवासी थाना नंदग्राम और तीसरे ने अंकित पुत्र प्रदीप निवासी हाल थाना मधुबन-बापूधाम बताया हैं। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक तमंचा, कारतूस, खोखा और घटना में प्रयुक्त एक मोटर साइकिल बरामद की हैं।

PunjabKesari

उपायुक्त नगर निपुण अग्रवाल ने दी जानकारी
आरोपियों से पूछताछ करने के बाद गाजियाबाद पुलिस उपायुक्त नगर निपुण अग्रवाल ने बताया कि रंगदारी मांगने में आरोपियों ने दो मोबाइल फोन का इस्तेमाल किया था। जोकि आरोपियों ने मधुबन-बापूधाम के मोरटा के लेबर क्लास के लोगों से लुटे थे। इसके अलावा आरोपियों ने उद्यमी को पैसा देने के लिए पेरिफेरल वे पर बुलाया था और रंगदारी के लिए कॉल दीपक उर्फ गोलू ने की थी। वहीं पुलिस के मुताबिक उद्यमी व्यापारी के पूर्व ड्राइवर अभिषेक उर्फ चिंटू ने ही अपने साथियों को व्यापारी के परिवार की जानकारी दी थी। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार आरोपियों के विरुद्ध कई मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के विरुद्ध अग्रिम वैधानिक कार्रवाई सुनिश्चित कर दी हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Prashant Tiwari

Related News

Recommended News

static