अजीत सिंह हत्याकांड: जय-वीरू की तलाश में है Lucknow Police, ऐसी है शूटरों की पूरी History

1/21/2021 4:58:44 PM

लखनऊ: 6 जनवरी को लखनऊ में अंजाम दिए गए अजीत सिंह हत्याकांड ने पूरे यूपी में दहशत मचा दी है। अजीत सिंह नाम के युवक को सरेआम ताबड़तोड़ गोली मारकर मौत के घाट उतारा गया। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने एक के बाद एक गिरफ्तारियां भी की हैं। वहीं शूटरों के बारे में भी जानकारियां मिल रही हैं। इस पर ही पड़ताल आगे बढ़ी तो कई खुलासे होते चले गए।
PunjabKesari
इस मामले में घायल शूटर की शिनाख्त राजेश तोमर के तौर पर हुई। राजेश तोमर, अलीगढ़ का रहने वाला है। बागपत के सुनील राठी गैंग का सदस्य है। अपराध की दुनिया में इसे जय के नाम से जानते हैं। अजीत सिंह की हत्या में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लखनऊ पुलिस इसी जय (राजेश तोमर)-वीरू (मुस्तफा) की जोड़ी को तलाश रही है।
PunjabKesari
अजीत सिंह हत्याकांड में इससे पहले बुधवार को शूटर संदीप सिंह बाबा को हिरासत में लिया गया था। ये मूल रूप से चंदौली का रहने वाला है और अम्बेडकर नगर से गिरफ्तार हुआ है। पता चला है कि संदीप सिंह बाबा 2006 से फ़रार था। जौनपुर से 2006 में ये 10 हज़ार का इनामी बदमाश था।
PunjabKesari
वहीं एक शूटर गिरधारी उर्फ डॉक्टर को नई दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। गिरधारी लोहार उर्फ डॉक्टर वाराणसी से एक लाख का इनामी अपराधी है। वहीं दो आरोपी अंकुर और बंधन के मुंबई से पकड़े जाने की सूचना है। इसके अलावा एक रवि यादव भी हत्या में शामिल है जो फ़रार है।
PunjabKesari
बता दें कि 6 जनवरी को अजीत सिंह को विभूतिखंड में गोलियों से छलनी कर दिया था। उसके 22 गोलियां मारी गई थी।  इस दौरान उसके साथ मौजूद मोहर सिंह भी पैर में गोली लगने से घायल हुआ था। मोहर की भूमिका को भी पुलिस संदिग्ध मान कर चल रही है। अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुंटू सिंह और अखंड सिंह की लखनऊ कोर्ट में पेशी हुई। एसीजेएम तृतीय की कोर्ट में दोनों आरोपी पेश किए गए। 


Tamanna Bhardwaj

Related News