कृष्णा पटेल और पल्लवी की ‘गिरफ्तारी’ की अखिलेश ने की निंदा, कहा- BJP सरकार के इशारे पर नहीं मिली सोनेलाल की जयंती मनाने की अनुमति

punjabkesari.in Sunday, Jul 03, 2022 - 12:25 PM (IST)

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपना दल के संस्थापक डॉक्टर सोनेलाल पटेल की जयंती मनाने के लिए प्रशासन द्वारा अपना दल (कमेरावादी) को अनुमति न देने को घोर अलोकतांत्रिक और तानाशाहीपूर्ण रवैया करार दिया है।

शनिवार को सपा मुख्यालय से जारी एक बयान में अखिलेश यादव ने कहा कि 'भाजपा सरकार विपक्षी दलों के नेताओं को प्रताड़ित कर रही है और सरकार के इशारे पर प्रशासन ने डॉ. सोने लाल पटेल की जयंती मनाने की अनुमति नहीं दी।'' उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार बदले की भावना से कार्य कर रही है और सरकार का रवैया घोर निंदनीय है। यादव ने अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल, विधायक पल्लवी पटेल समेत अन्य नेताओं को हिरासत में लिये जाने की भी निंदा की है।

सपा प्रमुख ने कहा कि सोने लाल पटेल ने गरीबों, दलितों, पिछड़ों और कमेरा समाज को न्याय और सम्मान दिलाने के लिए आजीवन संघर्ष किया और अब उन्हीं की बेटी विधायक पल्लवी पटेल समेत उनके परिजनों को जयंती समारोह मनाने से रोकना और अपमानित करना असंवैधानिक है। यादव ने कहा कि लोकतंत्र में यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है कि सोनेलाल की बेटी और उनके समर्थकों उनकी जयंती नहीं मनाने दी जा रही।

गौरतलब है कि लखनऊ में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में अपना दल के दोनों गुट- केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की अगुवाई वाले अपना दल (सोनेलाल) और अनुप्रिया की मां कृष्णा पटेल की अगुवाई वाला अपना दल (कमेरावादी) जयंती मनाना चाहते थे। अपना दल (सोनेलाल) को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति मिली, जबकि दूसरे गुट को यहां कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं मिली। इसको लेकर कृष्णा पटेल और पल्लवी पटेल ने केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल पर आरोप लगाये।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static