अखिलेश का BSP पर निशाना, कहा- कुछ दल आंबेडकर के रास्ते से भटके, केवल SP को रोकना उनका मकसद

punjabkesari.in Saturday, Feb 12, 2022 - 08:41 PM (IST)

बदायूं: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने परोक्ष रूप से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि बाबा साहेब आंबेडकर के रास्ते से भटक गयी एक पार्टी सपा को भाजपा को पराजित करने के एक मात्र उद्देश्य से चुनाव लड़ रही है। सपा के प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने कहा, ‘‘सपा, भाजपा को हराने के काम में जुटी है लेकिन एक ऐसी पार्टी है जो सपा को रोकना चाहती है। वह पार्टी बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के रास्ते से भटक गयी है। वह जीतने के लिए नहीं बल्कि भाजपा को सत्ता में बने रहने में मदद करने के लिए चुनाव लड़ रही है। '' 

उन्होंने कहा, ‘‘ संविधान को बचाने के लिए समाजवादियों और आंबेडकरवादियों के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में बदलाव लाना होगा क्योंकि यह चुनाव नौजवानों का भविष्य तय करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि उस पार्टी के कई लोग ‘सपा में शामिल हो गये हैं।'' बसपा प्रमुख मायावती कई बार सपा पर 2021-17 के दौरान सत्ता में रहने के दौरान दलितों के हितों के विरूद्ध कथित रूप से काम करने का आरोप लगा चुकी है। उन्होंने अपनी बात के पक्ष में संत रविदास नगर का नाम पिछली सपा सरकार द्वारा भदोही करने का हवाला दिया। पिछले विधानसभा चुनाव में जीतकर आये बसपा के 19 में से ज्यादातर विधायक इस चुनाव से पहले सपा के साथ हो गये । महंगाई को लेकर सरकार पर हमला करते हुए यादव ने कहा, ‘‘भाजपा के लोग कहते थे कि गरीब हवाई जहाज में चलेंगे। लेकिन जब से सरकार में आए हैं डीजल पेट्रोल इतना महंगा कर दिया है कि गरीब की गाड़ी और नौजवान की मोटरसाइकिल नहीं चल पा रही है।''

पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 58 सीटों पर हुए चुनाव का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘चुनाव का जो परिणाम दस मार्च को आना था, वह जनता पहले चरण में 10 फरवरी को अपने मतदान कर फैसला सुना दिया है कि आने वाले समय में गठबंधन की सरकार आने जा रही है। दूसरे चरण का चुनाव बदायूं, संभल मुरादाबाद की तैयारी को देखकर लग रहा है कि भाजपा का पूरा सफाया होने जा रहा है।'' उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के नेता कह रहे हैं कि गर्मी निकाल देंगे, लेकिन जैसे ही पहले चरण का चुनाव हुआ उनके कार्यकर्ता- नेता ठंडे पड़ गये हैं। जब यहां पर वोट पड़ेगा तो बचे हुए भी ठंडे हो जाएंगे।'' यादव ने नौजवानों को रोजगार दिलाने, पुरानी पेंशन योजना बहाल करने, किसानों के खाद के मुद्दे को सुलझाने, फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) दिलाने जैसे कई वादे किए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static